[gtranslate]
world

ईरान पर अमेरिका का कड़ा रुख 

अमेरिका -ईरान के बीच परमाणु समझौता टूटने के बाद से ही तनाव बना हुआ है।और अब  अमेरिकी राष्ट्रपति के एलान से खाड़ी क्षेत्र में तनाव कम होता नहीं नजर आ रहा है।
 ईरान  द्वारा दो बार अमेरिकी पहल के बावजूद वार्ता न करने के बयान पर अमेरिका ने सख्त रुख अपनाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा “कि वह सिर्फ वार्ता के लिए ईरान पर लगे प्रतिबंधों में कोई ढील नहीं देंगे। ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘ईरान चाहता है कि बातचीत के लिए मैं उस पर से प्रतिबंधों को हटा दूं। मैं कहता हूं कि ऐसा हरगिज नहीं होने वाला है। अमेरिका ईरान से प्रतिबंधों को नहीं हटाएगा।”

अमेरिकी राष्ट्रपति के इस एलान से खाड़ी क्षेत्र में तनाव कम होता नहीं नजर आ रहा है। ट्रंप के इस बयान से उलट, ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी की वेबसाइट के मुताबिक जर्मनी, ब्रिटेन और फ्रांस के नेताओं ने अमेरिका से बातचीत के लिए ईरान को प्रोत्साहित किया था और आश्वासन दिया था कि अमेरिका ईरान पर से सभी प्रतिबंधों को हटा देगा।

हालांकि, अब अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने ट्वीट के जरिए तमाम अटकलों पर विराम लगा दिया है। ट्रंप के बयान पर हसन रूहानी ने कहा है कि प्रतिबंधों और अधिकतम दबाव में यदि हम अमेरिका के साथ बातचीत करना भी चाहें तो इसके सकारात्मक नतीजे आने में संदेह है। बता दें कि अमेरिका और ईरान के बीच परमाणु समझौता टूटने के बाद से ही तनाव बना हुआ है।

परमाणु समझौता खत्म होने के बाद अमेरिका के दोबारा ईरान पर कई प्रतिबंध लगाने के बाद से खाड़ी में पश्चिमी देशों का तनाव बढ़ गया है। पिछले हफ्ते ओमान की खाड़ी में तेल टैंकरों पर हुए हमलों के बाद से खाड़ी क्षेत्र में तनाव और भी बढ़ गया था।

 रूस ने साफ कह दिया है कि युद्ध हुआ तो वह ईरान का साथ देगा। रूस ने यह भी कहा कि वाशिंगटन यदि क्षेत्र में हिंसा को बढ़ावा देगा तो इसकी भरपाई मुश्किल हो जाएगी। उधर, फ्रांस और जर्मनी वार्ता के पक्षधर हैं जबकि ब्रिटेन ईरान के विरुद्ध सख्त रवैया अपना रहा है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD