Uttarakhand

तीन साल तक किसकी जेब में जाता रहा पौड़ी नगरपालिका द्वारा वसूला जाने वाला पार्किंग शुल्क?

निवर्तमान पौड़ी नगरपालिका अध्यक्ष यशपाल बेनाम के कार्यकाल में पौड़ी बस स्टेशन पर नगरपालिका द्वारा वसूले जाने वाले पार्किंग के शुल्क के गबन किये जाने का मामला प्रकाश में आया है,स्थानीय निवासी और वरिष्ठ भाजपाई विनोद सचदेवा के जिलाधिकारी को भेजे गए शिकायती पत्र पर,जिलाधिकारी द्वारा नगरपालिका पौड़ी के वर्तमान अधिशाषी अधिकारी से माँगे गये स्पष्टिकरण से इस बात का खुलासा हुआ है,दरअसल 30 अक्टूबर 2014 को बस अड्डा कार्यदायी संस्था लोनिवि द्वारा नगरपालिका को हस्तान्तरित कर दिया गया था लेकिन तब से सितम्बर 2017 तक पार्किंग शुल्क नगरपालिका के खाते में जमा नहीं हुआ है, यह बात वर्तमान अधिशाषी अधिकारी द्वारा अपने स्पष्टिकरण में स्वीकार की गयी है,इस खुलासे के बाद पौड़ी नगरपालिका के निवर्तमान अध्यक्ष यशपाल बेनाम के कार्यकाल का एक और वित्तीय अनियमितता और घोटाले का मामला सामने है,अब देखने वाली बात ये है कि जिलाधिकारी,जोकि आजकल पालिका के प्रशासक भी हैं,इस मामले में एफआईआर कब दर्ज कराते हैं?आपको याद होगा कि वित्तीय अनियमितताओं के कतिपय आरोपों की पुष्टि होने पर ही उत्तराखण्ड शासन ने निवर्तमान नगरपालिका अध्यक्ष यशपाल बेनाम की वित्तीय शक्तियां भी सीज कर दी थी

                                                    

You may also like