[gtranslate]
world

अमेरिका का दावा, एलियंस के धरती पर उतरने की तस्वीरें असली

जीवन को दूसरे ग्रहों पर तलाश करना अब तक विज्ञान के लिए एक चुनौती बना हुआ है। दूसरे ग्रहों पर रह रहे लोग भी शायद यही सोचते होंगे। उनके वैज्ञानिक भी इसी तरह लगे होंगे पृथ्वी पर जीवन खोजने में। ऐसे में अगर एलियंस अपने किसी यान द्वारा धरती पर आ जाते हों तो ये किसी आश्चर्य से कम नहीं!

जी हां, अमेरिका ने दावा किया है कि जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन को झेल रही थी, उस वक्त भारी संख्या में एलियंस धरती पर अपनी मौजूदगी दर्ज करा रहे थे। उनका आना गलत भी नहीं। हम भी तो चन्द्र ग्रह, मंगल ग्रह पर पहुंच गए हैं। हमने शनि पर भी एक यान भेज दिया है। अब किसी न किसी दिन मानव भी उन यानों में बैठकर जाने की हिम्मत करेंगे।

 

रूस-अमेरिका के दरकते रिश्ते, कई राजनयिक अमेरिका से निष्कासित

 

विश्व की सबसे बड़ी न्यूज़ एजेंसी नासा ने दावा किया है कि लॉकडाउन की समय धरती पर एलियंस उतरे थे। इसका एक वीडियो भी नासा ने जारी किया है। जिसमें दावा किया गया है कि कोरोना महामारी के कठिन दौर में अमेरिका में काफी ज्यादा संख्या में यूएफओ को उतरते देखा गया है। नेशनल यूएफओ रिपोर्टिंग सेंटर यानि एनयूएफओआरसी की ओर से भी रिपोर्ट जारी करते हुए बताया गया है कि पृथ्वी पर बड़ी संख्या में यूएफओ को उतरते देखा गया।

 

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल मार्च और अप्रैल के महीनों में सबसे ज्यादा यूएफओ धरती पर उतरते देखे गए हैं। यह एक ऐसा समय था जब अधिकांश देश लॉकडाउन से गुजर रहे थे। न्यू यॉर्क सिटी ने इस अवधि के दौरान सबसे अधिक यूएफओ देखे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि यूएफओ यानी अज्ञात फ्लाइंग ऑब्जेक्ट्स 2019 की तुलना में न्यू यॉर्क सिटी में 31 प्रतिशत अधिक उतरा है। न्यू यॉर्क सिटी में 46 यूएफओ लैंडिंग दर्ज किए गए हैं। 2019 में रिपोर्ट के अनुसार, 35 यूएफओ आकाश से पृथ्वी पर उतरे।

 

वीडियो CNN से साभार

बिडेन की पार्टी में सऊदी रक्षा सौदे के चलते बढ़ी बेचैनी

 

नेशनल यूएफओ रिपोर्टिंग सेंटर के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल 2019 की तुलना में महामारी के दौरान एक हजार से अधिक यूएफओ उतरते देखे गए हैं। रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2020 में 7200 से अधिक यूएफओ अमेरिका में उतरे हैं। अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में यूएफओ को 2019 की तुलना में दोगुना देखा गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि बड़ी संख्या में यूएफओ के पृथ्वी पर उतरने का कारण महामारी हो सकता है। न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, महामारी के कारण अधिक से अधिक लोग अपने घरों में रहे या अपने घरों को छोड़कर कहीं और चले गए। यह यूएफओ के उतरने का एक बड़ा कारण हो सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, पृथ्वी पर उतरने वाले सभी यूएफओ की तस्वीरें रिकॉर्ड की जा रही हैं, लेकिन इससे ज्यादा उनके बारे में कुछ भी नहीं पता है। अमेरिकी श्रम मंत्रालय ने पिछले साल उन्हें ‘ अनआइडेंटिफाइड एरियल फेनोमेना ‘ या यूएपी कहते हुए एक गोपनीय रिपोर्ट प्रकाशित की थी। प्रशिक्षण के दौरान अमेरिकी नौसेना के कुछ पायलटों द्वारा वीडियो को अचानक रिकॉर्ड किया गया था। हालांकि, पेंटागन ने उस समय इसे सुरक्षा के मद्देेनजर जारी नहीं किया था। अमेरिकी रक्षा विभाग ने एक बयान जारी कर कहा कि जो वस्तुएं पृथ्वी पर उतरी हैं, उनके बारे में बहुत अधिक जानकारी अभी तक नहीं मिली है और वे अभी भी अज्ञात हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD