world

हांगकांग :मास्क बैन से और गंभीर हो सकता है लोकतंत्र समर्थक आंदोलन

हांगकांग में लोकतंत्र की मांग को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच एक बार फिर 6 अक्टूबर को जमकर हिंसा हुई। पुलिस और लोकतंत्र समर्थकों के बीच पत्थरबाजी भी हुई। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पेट्रोल बम फेंके जिसके बाद प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। पुलिस ने बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया। एक एडवाइजरी में हिंसा को देखते हुए लोगों को अपने घरों में रहने की सलाह दी गई है।

हांगकांग में भारी बारिश के बावजूद भी दस हजार से ज्यादा लोगों द्वारा विक्टोरिया हार्बर के दोनों तरफ विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया गया। प्रदर्शनकारियों ने सड़कों को जाम करके विरोध में चीनी झंडे जलाए। चेहरे पर मास्क लगाकर प्रदर्शन करने पर लगी रोक को गलत बताते हुए लोकतंत्र समर्थकों ने भारी संख्या में रैली निकाली। नए आपातकालीन कानून के तहत पुलिस ने पहली बार लोगों को गिरफ्तार किया, जिन्हें बाद में बसों में ले जाया गया। दो दिन पहले 4 अक्टूबर को प्रशासन ने चेहरा ढककर प्रदर्शन करने पर रोक लगा दी थी।

इसके लिए उन औपनिवेशिक कानूनों का सहारा लिया गया, जिनका इस्तेमाल पिछले आधी सदी में नहीं हुआ था। इसके बाद से प्रदर्शन और तेज हो गया गया है। शनिवार को भी हजारों लोगों ने रैली में हिस्सा लिया था। शुक्रवार रात शुरू हुआ प्रदर्शन तीसरे दिन रविवार को भी जारी रहा। शनिवार को बाजार, दुकानें और मॉल बंद थे। सार्वजनिक परिवहन खासकर रेल सेवा बुरी तरह प्रभावित हुई। हालांकि, रविवार को आधे से ज्यादा सब-वे स्टेशन और मॉल खुल गए।
लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शन के दौरान चेहरा ढकने के लिए मास्क पहनने पर लगी रोक से खासे नाराज हैं। यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले लोकतंत्र समर्थक ली ने कहा, ‘मास्क विरोधी कानून इस आंदोलन को और तेज करने का काम करेगा। अब और लोग सड़कों पर उतरेंगे। नए कानून से हम भयभीत नहीं हैं, जबकि इसने हमारे इरादे को और मजबूत कर दिया है। हम और मजबूती से लड़ेंगे।’
अदालत ने प्रदर्शन के दौरान चेहरा ढकने पर लगी रोक को हटाने से इनकार कर दिया। लोकतंत्र समर्थक सांसद डेनिस क्वोक ने कहा कि हाईकोर्ट ने मास्क पर लगे प्रतिबंध को हटाने से इनकार कर दिया है। हालांकि, अदालत हांगकांग की मुख्य कार्यकारी कैरी लाम के खिलाफ 24 सांसदों की याचिका पर इस महीने के अंत में सुनवाई को तैयार हो गई है। उनपर आरोप है कि कैरी लैम ने संसद को दरकिनार कर प्रतिबंध लगाने के लिए आपात शक्तियों का इस्तेमाल किया है, जिसे कोर्ट में चुनौती दी गई है।लोकतंत्र समर्थक सांसदों ने मांग की थी कि चेहरा ढ़ककर प्रदर्शन करने पर लगी रोक को हटाया जाए और आपातकालीत शक्तियों को अवैध घोषित किया जाए क्योंकि यह शहर की विधायिका को दरकिनार करता है। 

इस बीच, हांगकांग में एक चीनी कर्मचारी पर हमले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो में चेहरा ढके एक प्रदर्शनकारी द्वारा चीनी व्यक्ति को मुक्का मारते हुए देखा जा सकता है। प्रदर्शनकारी को चीनी व्यक्ति से चीन लौटने के लिए कहते हुए सुना जा सकता है। घटना को देखते हुए अमेरिकी बैंक के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

You may also like