[gtranslate]
Country

इन राज्यों में कोरोना के कारण बिना परीक्षा ही पास होंगे छात्र

वैश्विक कोरोना महामारी की दूसरी लहर की वजह से सभी स्कूल और बोर्ड परेशानी से जूझ रहे हैं। कोरोना महामारी को मद्देनजर रखते हुए कई राज्यों ने तो स्कूली परीक्षाओं के बिना ही नई कक्षा में छात्रों को बढ़ा देने का फैसला किया है। तो वहीं कई स्थानों पर बोर्ड परीक्षाएं कुछ समय के लिए स्थगित भी कर दी गई हैं। तो आइए देखते हैं कि किन राज्यों ने बिना परीक्षा दिए स्कूली छात्रों को पास करने का फैसला किया गया है।

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में भी कोरोना की रफ्तार थमने का नाम ही नहीं ले रही है। कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना के कहर को देखते हुए पहली कक्षा से आठवीं तक के छात्रों और 9 वीं और 11 वीं के छात्रों को बिना परीक्षा पास करने का फैसला लिया गया है। राज्य में 10 वीं और 12 वीं की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया हैं। यह घोषणा महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने की ओर से की गई है। उन्होंने कहा था कि कक्षा 12 वीं की परीक्षाएं मई के अंत तक होंगी तो वहीं 10 वीं कक्षा की परीक्षाएं जून में आयोजित होंगी। इन परीक्षाओं के लिए नई तारीखों की घोषणा भी जल्द ही कर दी जाएगी।

सी.बी.एस.ई बोर्ड का स्टडी मैटेरियल अब व्हाट्सएप्प पर उपलब्ध

तमिलनाडु

तमिलनाडु में भी कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए 9 वीं और 11 वीं की बोर्ड परीक्षा के साथ-साथ 10 वीं की बोर्ड परीक्षा भी नहीं होगी। इन कक्षाओं के छात्रों को सीधे अगली कक्षा में प्रोमोट किया जाएगा। इसकी घोषणा स्वयं मुख्यमंत्री पलानीस्वामी की ओर से विधानसभा में की गई थी। जबकि 12 वीं की परीक्षा 3 मई से आरम्भ होगी। क्योंकि इसे अभी तक रद्द या स्थगित नहीं माना गया है।

छत्तीसगढ़

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण छत्तीसगढ़ ने भी 10 वीं और 12 वीं कक्षा के अलावा अन्य सभी कक्षाओं के छात्रों को बिना परीक्षा पास करने का निर्णय किया है। जबकि 15 अप्रैल से शुरू होने वाली 10 वीं की परीक्षा कोरोना के कारण स्थगित कर दी है।तो वहीं 12 वीं की परीक्षा 3 मई को अपने निर्धारित समय के अनुसार ही शुरू होगी और 24 मई को संपन्न हो जाएगी।

ज्यादा देर धूप में रहने से घट जाता है कोरोना से मौत का खतरा !

राजस्थान

कोरोना महामारी को मद्देनजर रखते हुए राजस्थान में भी बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया हैं। गहलोत सरकार की ओर से भी 8 वीं, 9 वीं और 11 वीं के छात्रों को बढ़ावा देने का फैसला किया गया है। जानकारी के मुताबिक राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद दत्तोसरा  से इस मुद्दे पर चर्चा करने के पश्चात यह आदेश दिया है।

ओडिशा

ओडिशा के स्कूल एंड मास एजुकेशन डिपार्टमेंट ने पहली से 9 वीं और 11 वीं के छात्रों को बिना परीक्षा दिए प्रमोट करने का निर्णय किया है। सरकार की ओर से नए शैक्षणिक सत्र में पहले दो से तीन महीनों के लिए उपचारात्मक कक्षाओं की भी घोषणा की गई है। यह निर्णय स्कूल और लोक शिक्षा विभाग के तहत सभी स्कूलों पर लागू होता है।तो वहीं ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने राज्य बोर्ड को सभी बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने का आदेश दिया है।

असम

असम सरकार की ओर से भी कक्षा 1 से 9 तक के छात्रों को बिना परीक्षा दिए अगली उच्च कक्षाओं में प्रोमोट करने का फैसला लिया गया है। असम के स्कूलों में 1 अप्रैल से नया शैक्षणिक सत्र भी शुरू हो चुका है।

दिल्ली

कोरोना महामारी को मद्देनजर रखते हुए दिल्ली में भी 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया हैं। वहीं 10वीं, 9वीं और 11वीं के बच्चों को अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया गया है। केजरीवाल सरकार की ओर से भी 8 वीं, 9 वीं और 11 वीं के छात्रों को बढ़ावा देने का फैसला किया गया है।

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए पहली कक्षा से आठवीं कक्षा तक के छात्रों को बिना परीक्षा दिए पदोन्नत करने का फैसला लिया है। जबकि नौवीं और 11 वीं कक्षा के छात्रों के लिए अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। तो वहीं, राज्य में बोर्ड परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं।

पुदुचेरी

केंद्रशासित प्रदेश पुदुचेरी की ओर से भी बिना परीक्षा के पहली से नौवीं कक्षा के छात्रों को पास कर दिया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए, उप-राज्यपाल निवास की ओर से यह निर्णय लिया गया है।

गुजरात

गुजरात में कक्षा 1 से 9 और 11 के छात्रों को बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रोमोट किया जाएगा। दिन दिन कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राज्य सरकार की ओर से 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं। नई बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों की घोषणा 15 मई के बाद की जाएगी।

पंजाब

पंजाब में, कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 5 वीं, 8 वीं और 10 वीं कक्षा के छात्रों को बगैर परीक्षा के अगली कक्षा में प्रोमोट करने का फैसला किया है। राज्य सरकार की ओर से 12 वीं की बोर्ड परीक्षा को भी स्थगित कर दिया गया है। 10 वीं परीक्षा का परिणाम पूर्व बोर्ड परीक्षा और आंतरिक मूल्यांकन में प्राप्त अंकों के आधार पर जारी किया जाएगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD