[gtranslate]
Country

भारतीय ग्रेजुएट्स में नहीं है काबिलियत, 50 फीसदी ही योग्यता के काबिल

पूरी दुनिया में कोरोना संकट ने ऐसा कोहराम मचाया कि दुनियाभर में लॉकडाउन की स्थिति पैदा हो गई। उस दौरान कई लोगों की नौकरी चली गई जिससे लोगों को अपने जीवन-यापन के लिए कमाई का साधन न मिल सका। लेकिन जैसे ही धीरे-धीरे जब कोरोना वायरस के कारण लगी सख्तियां हटने लगी तो लोगों ने नौकरियां तलाश करना शुरू कर दी हैं। ऐसे में अगर आपको ये सुनने को मिले कि 50 प्रतिशत भारतीय ग्रेजुएट्स नौकरी करने योग्य नहीं हैं तो आपको झटका तो लगेगा ही लेकिन कारण जानकर आप भी इस बात से सहमत हो जाएंगे।

दरअसल, ये बात इंडिया स्किल्स रिपोर्ट 2021 (India Skills Report) की जारी एक रिपोर्ट से सामने आई है। इस रिपोर्ट के अनुसार, 50 प्रतिशत भारतीय स्नातक भी नौकरियों के लायक नहीं हैं। इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि कौन से उम्मीदवार नौकरी के लिए योग्य हैं? कौन से राज्य और किन शहरों में सबसे अधिक प्रतिभा वाले युवा हैं? इस वर्ष किस क्षेत्र को सबसे अधिक नौकरियां (वैकेंसी 2021) दी जाएंगी?

यह भारत कौशल रिपोर्ट (ISR) का आठवां संस्करण है। भारत के केवल 45.9 प्रतिशत स्नातक रोजगार के लिए योग्य हैं। यह आंकड़ा पिछले तीन सालों में सबसे कम है। वर्ष 2020 में यह प्रतिशत 46.21 और 2019 में 47.38 था।

किस राज्य का स्नातक सबसे प्रतिभाशाली

(भारत में राज्यवार रोजगार) ISR 2021 के अनुसार, जिन राज्यों में स्नातक सबसे अधिक रोजगार योग्य पाए गए, वे राज्य हैं महाराष्ट्र, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश (यूपी) और कर्नाटक (कर्नाटक) हैं। मौजूदा समय, शहरों के मामले में जो शीर्ष पर हैं – वे राज्य हैं हैदराबाद, बैंगलोर और पुणे। इस साल भी मुंबई शीर्ष 10 शहरों की सूची से बाहर है।

कौन सा कोर्स सबसे ऊपर है?

इस रिपोर्ट में, 09 शीर्ष पाठ्यक्रम पाठ्यक्रम, जो भारत में सबसे लोकप्रिय हैं, उनके नाम दिए गए हैं। यह भी बताया गया है कि इन पाठ्यक्रमों में पढ़ने वाले कितने युवा रोजगार के लिए पात्र हैं। 2015 के बाद से अब तक किस पाठ्यक्रम का प्रदर्शन कैसा रहा है।

पूरी लिस्ट 
कोर्स का नाम 2015 2016 2017 2018 2019 2020 2021
बीई / बीटेक (BE / BTech) 54 52.58 50.69 51.52 57.09 49 46.82
एमबीए (MBA) 43.99 44.56 42.28 39.4 36.44 54 46.59
बीए (BA) 29.82 27.11 35.66 35.66 29.3 48 42.72
बीकॉम (BCom) 26.45 20.58 37.98 33.93 30.06 47 40.3
बीफार्मा (BPharma) 56 40.62 42.30 47.78 36.29 45 37.24
बीएससी (BSc) 38.41 35.24 31.76 33.62 47.37 34 30.34
पॉलीटेक्निक (Polytechnic) 10.14 15.89 25.77 32.67 18.05 32 25.02
एमसीए (MCA) 45 39.81 31.36 43.85 43.19 25 22.42
आईटीआई (ITI) 44 40.90 42.22 29.46

पुरुष से ज्यादा महिलाएं काबिल

रिपोर्ट में दिए गए आंकड़ों से पता चलता है कि अधिक महिलाएं भारत में नौकरियों के लिए योग्य हैं। फिर भी महिलाओं की तुलना में पुरुषों के पास नौकरी के अधिक अवसर हैं। भारतीय कामगारों में लगभग 64% पेशेवर पुरुष हैं, जबकि महिलाएं केवल 36% हैं।

बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र में अधिकतम 46% महिलाएं हैं। इंटरनेट व्यवसाय में महिलाओं का हिस्सा 39% है। वहीं, 79% पुरुष ऑटोमोटिव सेक्टर में, 75% लॉजिस्टिक्स सेक्टर में और 72% कोर और एनर्जी सेक्टर में हैं।

ISR 2021 के अनुसार, 2020 में भर्ती में भारी गिरावट के बाद इस साल नौकरियों में दोहरी वृद्धि देखी जा रही है। वर्ष 2019 में लक्ष्य 15% था, जो 2020 में घटकर 10% हो गया। इस वर्ष अब तक यह 19% हो गया है। इस साल बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र, सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर, आईटी और इंटरनेट व्यवसाय में अधिकतम नौकरियां होने की उम्मीद है।

इस रिपोर्ट को व्हीनेक्स ने UNDP, AICTE, AIU, CII और Tagged के सहयोग से तैयार किया है।

अब शुरू होगी निजीकरण की आंधी,PM मोदी ने दिए संकेत 

You may also like

MERA DDDD DDD DD