[gtranslate]
Country

हरियाणा के वीवीआईपी गांव में कोरोना कहर

हरियाणा में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से पैर पसार रहा है। सिरसा के पन्नीवाला मोटा से लेकर ओढा, नूइयांवाला, गोरीवाला, गंगावली, चौटाला, तेजाखेड़ा फार्म, डबवाली और कालांवाली तक स्थिति काफी खराब है। सिरसा के ग्राम चौटाला क्षेत्र में संक्रमण हॉटस्पॉट बना हुआ है। ग्रामीणों के अनुसार, क्षेत्र में रोजाना संक्रमण से 2 मौतें होती हैं। हालांकि यहां भी कम स्टाफ और आधी-अधूरी सुविधाओं के सहारे स्वास्थ्य व्यवस्था बेबस नजर आ रही है।

गौरतलब है कि देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री देवीलाल के गांव में चार लोग मौजूदा विधायक हैं। इनमें डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, मंत्री रंजीत सिंह, नैना चौटाला और अमित सिहाग शामिल हैं। हालांकि यह गांव इन दिनों राजनीतिक प्रभाव नहीं बल्कि कोरोना के हमले से चर्चा में है। राज्य के सिरसा जिले के गांवों में कोरोना वायरस संक्रमण के हालात नजर आ रहे हैं। राजस्थान और पंजाब की सीमा से लगे वीवीआईपी गांव चौटाला में स्थिति काफी गंभीर है।

यह भी पढ़े: 10 राज्यों में फैला ब्लैक फंगस, UP में मिले 89 केस, 3 की मौत

इसके बावजूद गांव के लोगों का सरकारी तंत्र से भरोसा उठ गया है। यह केवल चौटाला का ही नहीं, बल्कि अन्य गाँवों का भी है, जहाँ अधूरी व्यवस्था और आधी सुविधाओं के आधार पर स्वास्थ्य व्यवस्था खड़ी है।

20 हजार की आबादी वाले इस गांव से अब तक करीब 1100 मरीज ही सामने आए हैं। इस लिहाज से हर घर में औसतन एक मरीज कोरोना से जूझ रहा है। सरकारी आंकड़े ग्रामीणों के दृष्टिकोण से मेल नहीं खाते हैं, लेकिन यहां श्मशान एक वास्तविक बयान दे रहा है। यहां हर दिन दो लाशों का अंतिम संस्कार किया जाता है।

चौटाला गांव के लोगों का कहना है कि हमें अस्पताल जाने में भी डर लगता है क्योंकि कर्मचारी बाहर से भाग जाते हैं। अंदर बुला भी लिया तो बड़े अस्पतालों में ही रेफर करें। उनके पास न तो ऑक्सीजन सिलेंडर हैं और न ही पर्याप्त स्टाफ। भले ही आप ऐसी स्थिति में जाएं। इसके बाद सिर्फ एक चारा बचता है, दूसरे राज्यों के अस्पतालों के पास।

You may also like

MERA DDDD DDD DD