Country

बंगाल में एनआरसी को लेकर भय पैदा कर रही भाजपा :ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि एनआरसी को लेकर उन्होंने भय का माहौल बनाया है।  23 सितंबर को ममता बनर्जी ने दावा किया है कि इस वजह से राज्य में छह लोगों की मौत हुई है।  तृणमूल सुप्रीमो ने यहां व्यापार संघों की बैठक को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। ममता बनर्जी ने लोगो को आश्वासन देते हुए कहा, ‘एनआरसी बंगाल या देश के किसी भी हिस्से में नहीं होगा। असम में यह असम समझौते की वजह से हुआ।’ असम समझौता 1985 में तत्कालीन राजीव गांधी सरकार और ऑल असम स्टुडेंट्स यूनियन (आसू) के बीच हुआ था।
इससे पहले भी ममता ने नई दिल्ली से लौटने के बाद पत्रकारों से कहा, ‘मैं पश्चिम बंगाल के लोगों को आश्वस्त करती हूं कि अगर आपको मुझ पर भरोसा है तो चिंता न करे। किसी  को भी पश्चिम बंगाल नहीं छोड़ना पड़ेगा। जैसे इतने वर्षों से रहते आ रहे हैं, वैसे ही आप यहां रहते रहेंगे। अगर वे (भाजपा) आपको छूना चाहते हैं तो उन्हें पहले ममता बनर्जी से टकराना होगा।’

ममता ने कहा, “बंगाल में एनआरसी को लेकर भय पैदा करने वाली भाजपा पर धिक्कार है। इसके कारण पश्चिम बंगाल में छह लोगों की जान चली गयी।  मुझ पर भरोसा रखिये, पश्चिम बंगाल में एनआरसी को कभी मंजूरी नहीं मिलेगी।”

भाजपा पर देश में ‘लोकतांत्रिक मूल्यों को कमतर’ करने का आरोप लगाते हुए सुश्री बनर्जी ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र है, लेकिन देश के कई अन्य हिस्सों में यह खतरे में है।’ बनर्जी ने यह भी कहा, ‘‘भाजपा नौकरियों के कम होने या भारतीय अर्थव्यवस्था के गिरने पर बात नहीं कर रही है। एनआरसी पर अपने राजनीतिक हितों को साधना चाहती है। 18 अक्टूबर को देशभर में निजीकरण और सार्वजनिक सेक्टर के बंद होने के खिलाफ रैली का आयोजन किया जाएगा। मैं उसमें हिस्सा लूंगी।”

You may also like