[gtranslate]
Country

मोदी के करीबी AK शर्मा का बढा कद, सरकार में नही संगठन में मिला पद

पूर्व नौकरशाह से राजनेता बने विधान परिषद सदस्य अरविंद कुमार यानी एके शर्मा पर अब उत्तर प्रदेश की राजनीति में नया प्रयोग किया गया है। पहले जहां कहा जा रहा था कि उन्हें सरकार में शामिल किया जाएगा। यही नहीं बल्कि कहा तो यहां तक जा रहा था कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में उन्हें डिप्टी सीएम बनाया जाएगा। साथ ही ग्रह और गोपन जैसे महत्वपूर्ण विभाग का मंत्रालय भी उनको दिया जाएगा। लेकिन इस मामले पर भाजपा में घमासान हो गया। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोदी के करीबी एके शर्मा को सरकार में स्थान देने के लिए हरी झंडी नहीं दी।
चौंकाने वाली बात यह रही कि एके शर्मा 3 दिन तक लगातार योगी से मिलने का टाइम मांगते रहे। लेकिन मुख्यमंत्री समय की व्यस्तता का बहाना  बनाकर शर्मा से दूरी बनाते रहे। बाद में प्रधान मंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से हुई मुलाकात पर कहा जाने लगा था कि योगी का रुख अब नरम होगा। इसके चलते ही कयास लगाए जाने लगे कि अब ए के शर्मा को उत्तर प्रदेश की सत्ता में सिंहासन मिलने से कोई नहीं रोक सकेगा।
लेकिन मुख्यमंत्री योगी ने अगला राजनीतिक पत्ता  फैका और मंत्रिमंडल विस्तार की जो चर्चा चल रही थी उसे विराम दे दिया। योगी का सीधा संदेश केंद्रीय आलाकमान को था कि वह किसी के दबाव में आकर अपनी नापसंद के व्यक्ति को मंत्रालय में स्थान नहीं देंगे।
 फिलहाल, कल उत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को दिल्ली दरबार में बुलाया गया था। जहां वह गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले। हालांकि कहा गया कि यह मुलाकात एक औपचारिक मुलाकात है। जिसमें यूपी में संभावित मंत्रिमंडल की बात की जाएंगी। लेकिन सच कुछ और ही था । वह यह कि एके शर्मा को यूपी के संगठन में स्थान दिलाने की पैरवी करना। केंद्र इस पैरवी में कामयाब हुआ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने आज एके शर्मा को प्रदेश उपाध्यक्ष बना दिया।
इसी के साथ ही कई लोगों को संगठन  में स्थान दिया गया है।  जिनमें प्रियांशु दत्त द्विवेदी फर्रुखाबाद को युवा मोर्चा, गीता शाक्य राज्यसभा सांसद औरैया को महिला मोर्चा, कामेश्वर सिंह गोरखपुर को किसान मोर्चा, नरेंद्र कश्यप पूर्व सांसद गाजियाबाद को पिछड़ा वर्ग मोर्चा, कौशल किशोर सांसद को अनुसूचित जाति मोर्चा, संजय गोंड गोरखपुर को अनुसूचित जनजाति मोर्चा, और कुंवर बासित अली मेरठ को अल्पसंख्यक मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया गया।

You may also like

MERA DDDD DDD DD