[gtranslate]
Country

दिल्ली में लगा 6 दिन का ‘मिनी लॉकडाउन’

कोरोना का कहर अब और अत्यधिक घातक रूप ले चुका है। कोरोना से प्रतिदिन दिल्ली में मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है। लॉकडाउन जैसा माहौल एक बार फिर राजधानी दिल्ली में दिखाई देगा। दिल्ली में आज रात से लेकर अगले सोमवार सुबह 5 बजे तक पूर्ण रूप से लॉकडाउन घोषित किया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दोपहर 12 बजे औपचारिक घोषणा की गई।
उन्होंने दिल्ली में कोरोना के हालात पर कहा कि दिल्ली का हेल्थ सिस्टम तनाव में है। उनके द्वारा बताया गया इस मिनी लॉकडाउन के दौरान शादी समारोह में 50 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते हैं। उसके लिए अलग से पास जारी किए जायेंगे। उन्होंने प्रवासी मजदूरों से भी आग्रह किया कि इस लॉकडाउन में दिल्ली छोड़कर न जाएं। लॉकडाउन छोटा है और छोटा ही रहेगा। उन्होंने कहा लॉकडाउन से कोरोना खत्म नहीं होगा लेकिन हालात जरूर संभल जायेंगे। सप्ताहांत के कर्फ्यू के दौरान, मॉल, स्पा, जिम, ऑडिटोरियम, आदि जैसे स्थान बंद रहेंगे, लेकिन थिएटर 30 प्रतिशत क्षमता के साथ खुले रहेंगे। इस दौरान राजधानी में मेट्रो, बस सर्विस बंद नहीं रहेगी। बैंक एटीएम पेट्रोल पंप भी खुले रहेंगे।

आज रात से दिल्ली में कर्फ्यू लगा दिया जाएगा। इसलिए नागरिकों को 26 अप्रैल तक घर पर रहना होगा। पहले दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू घोषित किया गया था। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि शहर में केवल 100 से कम आईसीयू बेड बचे हैं। अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर केंद्रीय अस्पताल अस्पतालों में कोविड रोगियों के लिए 7,000 बेड की मांग की है।

लेकिन अब मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण दिल्ली में स्वास्थ्य सुविधाएं अपर्याप्त होती जा रही हैं। कई जगहों पर बेड उपलब्ध नहीं हैं और कुछ जगहों पर ऑक्सीजन समय पर उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। परिणामस्वरूप, दिल्ली सरकार ने एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है। यह कंट्रोल रूम ऑक्सीजन, रेमिडिसीर सप्लाई के डेटा को कंट्रोल करेगा। सरकार ने इसके लिए एक मंडल अधिकारी भी नियुक्त किया है।

 

लॉकडाउन के डर से घरों को लौटने लगे हैं मजदूर , महाराष्ट्र और दिल्ली में बढ़े मामले  

 

स्थिति को देखते हुए रक्षा अनुसंधान औ सरदार पटेल कोविड अस्पताल की स्थापना DRDO द्वारा की गई है। वर्तमान में यहां 500 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। यहां ऑक्सीजन और वातानुकूलित कमरे उपलब्ध कराए जाते हैं। कुछ दिनों में और बेड जोड़े जाएंगे।

रविवार, 18 अप्रैल को एक ही दिन में सबसे अधिक 25,462 मरीज दिल्ली में पाए गए। वहीं, दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 30 फीसदी तक पहुंच गया है। इसका मतलब है कि दिल्ली में हर तीसरा नागरिक संक्रमित पाया जाता है।

कुंभ में भाग लेने वाले नागरिकों के लिए सुझाव

दिल्ली सरकार ने हरिद्वार में कुंभ मेले से लौटने वालों के लिए 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन अनिवार्य किया है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भी इस संबंध में एक आदेश जारी किया है। साथ ही यदि आपने 4 अप्रैल से अब तक कुंभ में भाग लिया है या आप 18 अप्रैल से 30 अप्रैल तक कुंभ में भाग लेने का इरादा रखते हैं, तो ऐसे नागरिकों को अपनी जानकारी www.delhi.gov.in वेबसाइट पर 24 घंटे के बाद अपलोड करनी होगी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD