[gtranslate]
world

विश्व स्वास्थ्य संगठन की 10 विशेषज्ञों की टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट में बताया,कोरोना वायरस के संक्रमण को रोक सकता था चीन और डब्ल्यूएचओ

कोरोना ने पूरी दुनिया को बदहाली के दौर पर लाकर खड़ा कर दिया है। हर तरफ कोरोना का कहर जारी है। हालांकि कोरोना की वैक्सीन बाजारों में आ चुकी है, और लोगों को इसकी डोज भी दी जा रही है। अमेरिका समेत कई देशों ने कोरोना की उत्पत्ति को चीन के वुहान शहर से जोड़ा था। जिसको लेकर ट्रंप ने कई बार चीन पर हमला बोला था। पंरतु चीन इन सभी आरोपों को खारिज करता आ रहा है। अब विश्व स्वास्थ्य संगठन की 10 विशेषज्ञों की टीम चीन पहुंच चुकी है। जो यह पता लगाएगी कि क्या वास्तव में कोरोना की उत्पत्ति चीन के वुहान शहर से हुई है या यह सिर्फ अफवाह फैलाई जा रही है। पहले चीन ने इस टीम को रिसर्च करने के लिए मना कर दिया था। लेकिन कड़े विरोधाभासों के बाद अब डब्ल्यूएचओ की टीम वुहान शहर में जाकर इसकी उत्पत्ति का कारण पता कर रही है।

अब विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम ने एक हैरान करने वाली रिपोर्ट जारी की है। जांच टीम ने बताया कि अगर चीन और विश्व संगठन चाहता तो कोरोना को पूरी दुनिया में फैलने से रोक सकता था। स्वतंत्र पैनल ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा कि अगर चीन चाहता तो इस पर पहले ही पर्याप्त कदम उठा कर इसे रोक सकता था। टीम ने इस मामले में डब्ल्यूएचओ को भी कटघरे में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि जिस समय चीन में कोरोना का पहला मामला आया था, तब बीजिंग डब्ल्यूएचओं के साथ मिलकर इस महामारी को रोक सकता था। लेकिन डब्ल्यूएचओ ने ऐसा नहीं किया। अब दोनों की लापरवाही के कारण कोरोना आज पूरी दुनिया में फैल गया। कोरोना पूरी दुनिया में फैलने के कारण आज कई देशों में लॉकडाउन लगा हुआ है और कोरोना की चपेट में आने के कारण लाखों लोगों की मौत हो गई है, और करोड़ो लोग इस महामारी की चपेट में है।

यह भी पढ़े:

आखिरकार चीन पहुंची डब्ल्यूएचओ की टीम, कोरोना की उत्पत्ति का लगाएगी पता

https://thesundaypost.in/world/who-team-finally-reached-china-will-know-the-origin-of-corona/

डब्ल्यूएचओ के एक प्रवक्ता ने कहा कि पीटर बेन एम्बरेक जो डब्ल्यूएचओ के शीर्ष विशेषज्ञ हैं, पिछले जुलाई में प्रारंभिक मिशन पर चीन गए थे, पीटर बेन एम्बरेक 10 विशेषज्ञों का नेतृत्व कर रहे है। एक वियतनामी जीवविज्ञानी त्रिशंकु गुयेन, जो 10-सदस्यीय टीम का हिस्सा है, ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि उसने चीन में समूह के काम पर किसी भी प्रतिबंध की उम्मीद नहीं की थी, लेकिन दृढ़ जवाब खोजने के खिलाफ चेतावनी दी। अपने काम को पूरा करने के बाद, टीम दो सप्ताह तक अनुसंधान संस्थानों, अस्पतालों और वुहान में समुद्री भोजन के बाजार में लोगों के साक्षात्कार में बिताएगी, जहां माना जाता है कि नए रोगज़नक़ उभरे हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD