[gtranslate]
world

कनाडा के जंगलों में बेकाबू आग

कनाडा अल्बर्टा प्रांत स्थित जंगल भयंकर आग की चपेट में हैं। कनाडा के अल्बर्टा में जंगल की आग के कारण 30,000 लोगों को अपना घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा है। रविवार शाम तक जंगल के विभिन्न हिस्सों में आग की 108 घटनाएं हो चुकी थीं। 31 जगहों पर स्थिति नियंत्रण से बाहर बताई जा रही है। अलबर्टा वाइल्डफायर यूनिट के सूचना अधिकारी क्रिस्टी टकर ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आग बुझाने के लिए हेलीकॉप्टर और एयर टैंकरों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इलाके से बचाए गए लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है।
क्रिस्टीज के मुताबिक, धुएं और आग से संपत्ति को हुए नुकसान का अंदाजा लगाना मुश्किल हो रहा है। उन्होंने कहा कि अब हमारा मकसद लोगों की जान बचाना है। बारिश के बावजूद आग पर इसका कोई असर नहीं हुआ। इससे जंगल में आग के खतरे का अंदाजा लगाया जा सकता है।
पर्यावरण के साथ काम करने वाली एरिन स्टॉन्टन ने कहा कि इससे आग पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। वहीं, आग पर काबू पाने के लिए अलबर्टा राज्य में आपात स्थिति घोषित कर दी गई है। खुद प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो इस मामले की निगरानी कर रहे हैं।
अल्बर्टा प्रीमियर डेनियल स्मिथ ने कहा कि आग अब तक 300,000 एकड़ जल चुकी है। सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र ड्रेटन वैली बताया जा रहा है। 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने के कारण आग तेजी से फैल रही है।

जंगल में आग कैसे लगती है?

जंगल की आग हर साल 4 मिलियन वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को जलाती है। आग को जलाने के लिए गर्मी, ईंधन और ऑक्सीजन की जरूरत होती है। जंगलों में ऑक्सीजन केवल हवा में है। सूखी टहनियाँ और पेड़ों की पत्तियाँ ईंधन का काम करती हैं। वहीं, एक छोटी सी चिंगारी गर्मी का काम कर सकती है।
आग लगने की ज्यादातर घटनाएं गर्मियों में होती हैं। इस मौसम में एक छोटी सी चिंगारी भी पूरे जंगल में आग लगाने के लिए काफी होती है। ये चिंगारी अक्सर पेड़ों की शाखाओं के आपस में टकराने या सूरज की तेज किरणों के कारण पैदा होती हैं।
गर्मियों में पेड़ों की टहनियां और टहनियां सूख जाती हैं, जो आसानी से आग पकड़ लेती हैं। एक बार आग लगने के बाद हवा द्वारा ये तेज हो जाती है। इसके अलावा, प्राकृतिक बिजली के हमले, ज्वालामुखी और कोयले के जलने से जंगल में आग लग सकती है। वर्तमान में बढ़ते तापमान को कनाडा में आग लगने का प्रमुख कारण बताया जाता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD