[gtranslate]
world

ट्रंप को तत्काल हटाने की मांग कर रहे हैं अमेरिका के बड़े उद्योगपति

सुप्रीम कोर्ट ने दिया ट्रंप को झटका, ड्रीमर्स को देश से बाहर करने पर लगाई रोक

दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका कल अपने ही बनाए सविधान की उस समय धज्जिया उड़ाता दिखा जब संसद के बाहर निवर्तमान राष्ट्पति डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक हिंसा पर उतारू हो गए। यहां वोटिंग के 64 दिन बाद जब अमेरिकी संसद जो बाइडेन की जीत पर मुहर लगाने जा रही थी। ऐसे समय में अमेरिकी लोकतंत्र शर्मसार हो गया। देखते ही देखते ट्रम्प के समर्थक दंगाइयों में तब्दील हो गए। वे न केवल संसद में घुसे बल्कि जमकर तोड़फोड़ और हिंसा की। यही नहीं बल्कि गोलिया भी चली। अब तक हिंसा में कुल चार लोगो के मरने की खबरें आ रही है। सुरक्षा एजेंसियां ट्रम्प समर्थकों के प्लान को समझने में नाकाम रहीं। बामुश्किल मिलिट्री की स्पेशल यूनिट दंगाइयों को काबू कर पाई। कई घंटे तक हुए बवाल के बाद संसद की कार्यवाही फिर से शुरू की जा सकी। फिलहाल वाशिंगटन में 15 दिन के लिए आपातकाल लगा दिया गया है। हिंसा के ऊपर कई देशों के राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों ने अपने-अपने बयान दिए।

अमेरिका के उद्योगपति भी हिंसा पर मुखर होकर सामने आने लगे। एक्सान मोबिल कॉर्प, फाइजर इंक और टोयोटा मोटर कॉर्प सहित 1400 कंपनियों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक महत्वपूर्ण संयुक्त राज्य अमेरिका व्यापार समूह के प्रमुख ने वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारियों से आग्रह किया कि वे निवर्तमान राष्ट्रपति के समर्थकों के अमेरिकी कैपिटल पर धावा बोलने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को पद से हटाने पर विचार करें।

नेशनल एसोसिएशन ऑफ मैन्युफैक्चरर्स के अध्यक्ष और सीईओ जे टिमंस ने कहा कि ट्रम्प ने “सत्ता बनाए रखने की कोशिश में हिंसा भड़कायां, और उनका बचाव करने वाला कोई भी निर्वाचित नेता संविधान के लिए अपनी शपथ का उल्लंघन कर रहा है और अराजकता के पक्ष में लोकतंत्र को खारिज कर रहा है। अमेरिका के निवर्तमान उपराष्ट्रपति माइक पेंस, जिन्हें कैपिटल से निकाला गया था, को लोकतंत्र को संरक्षित करने के लिए 25वें संशोधन का आह्वान करने के लिए मंत्रिमंडल के साथ काम करने पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।

अन्य व्यापारिक समूहों ने मजबूत बयान जारी किए लेकिन जहां तक निर्माताओं के समूह की बात है, वहां तक नहीं गए। अमेरिका की कुछ सबसे बड़ी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के एक संघ बिजनेस गोलमेज सम्मेलन ने कहा, देश की राजधानी में खुलासा अराजकता एक लोकतांत्रिक चुनाव के वैध परिणामों को पलटने के गैरकानूनी प्रयासों का परिणाम है। जेपीमॉर्गन चेस के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी जेमी डिमोन ने कहा, हमारे निर्वाचित नेताओं की जिम्मेदारी है कि वे हिंसा को समाप्त करने, परिणामों को स्वीकार करें और जैसा कि हमारे लोकतंत्र में सैकड़ों वर्षों से सत्ता के शांतिपूर्ण परिवर्तन का समर्थन है । अब समय हमारे असाधारण संघ को मजबूत करने के लिए एक साथ आने का है। व्हाइट हाउस के पास स्थित एक शक्तिशाली बिजनेस लॉबी, अमेरिकी चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रमुख ने कहा कि “हमारे देश के कैपिटल बिल्डिंग और हमारे लोकतंत्र के खिलाफ हमले अब खत्म होने चाहिए।

You may also like

MERA DDDD DDD DD