[gtranslate]
world

ट्रंप के ट्विटर अकाउंट पर फ़िलहाल रोक 

ट्रम्प ने दिया WHO प्रमुख को 30 दिन का अल्टीमेटम, फंडिंग रोक देने की दी धमकी

 

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप वैसे ही इन दिनों मीडिया से तंग हैं, तो दूसरी तरफ अब सोशल मीडिया ने भी उन पर कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। कोरोना वायरस के बारे में भ्रामक जानकारी पोस्ट करने पर ट्विटर ने ट्रंप की पोस्ट को प्रतिबंधित कर दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर खातों पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगा दिया है।

 

बता दें कि इससे पहले भी कई बार राष्ट्रपति ट्रंप के ट्विटर पर बैन लगाया जा चुका है। यह पहली बार है जब सोशल मीडिया कंपनी ने ट्रंप द्वारा गलत सूचना फैलाने के लिए एक पोस्ट को पूरी तरह से हटा दिया है। इस पोस्ट में यह दावा किया गया था कि कोरोना वायरस छोटे बच्चों को प्रभावित नहीं करता है।

 

एक ट्विटर प्रवक्ता ने कहा कि ट्रंप ने एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें फॉक्स न्यूज वीडियो की एक क्लिप है और यह बहुत भ्रामक है। इसलिए, हमने उनका खाता बंद कर दिया।  जिसके साथ वे इस तरह की गलत और भ्रामक जानकारी फैला रहे थे।

 

बता दें कि इससे पहले फेसबुक ने भी ट्रंप के ऐसे वीडियो पर प्रतिबंध लगा दिया था। यह पहली बार है जब फेसबुक ने डोनाल्ड ट्रंप की ताजपोशी के बारे में पोस्ट पर कार्रवाई की है। ट्रंप द्वारा पोस्ट किया गया वीडियो बिना किसी तथ्य के झूठे दावे कर रहा है। किसी ने भी कोरोना से पूरी तरह से लड़ने की क्षमता विकसित नहीं की है। फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा कि वीडियो को हटा दिया गया क्योंकि इसने हमारे नियमों का उल्लंघन किया है। ट्विटर से पहले फेसबुक ने भी ट्रंप का वीडियो हटा दिया था।

दरअसल, ट्रंप की ओर से ट्विटर पर हाल ही में एक ट्वीट किया गया था। उन्होंने ट्वीट किया था कि यदि आप बच्चों के बारे में बात करते हैं, तो मेरे अनुसार, बच्चों को कोरोना नहीं हो सकता है, क्योंकि बच्चों में कोरोना रोग के लिए बहुत अधिक प्रतिरक्षा है। हालांकि आंकड़ों के अनुसार, अधिकांश बच्चे अभी भी कोरोना महामारी की चपेट में हैं। जो डोनाल्ड ट्रंप के दावे के बिल्कुल विपरीत है।

 

5 अगस्त की सुबह फॉक्स एंड फ्रेंड्स के साथ एक साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा कि सभी स्कूलों को फिर से शुरू कर दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि छोटे बच्चों में कोरोना से लड़ने की क्षमता होती है। न तो विश्व स्वास्थ्य संगठन और न ही अमेरिका ने इस संबंध में कोई निर्देश जारी किया है। इससे पहले भी डोनाल्ड ट्रंप के दो ट्वीट को भ्रामक ट्वीट कहा गया था। इसके अलावा इन ट्वीट्स के साथ, ट्विटर ने एक ‘तथ्य जांच’ पर संकेत दिया था। ट्विटर पर यह कार्रवाई होने के बाद ट्रंप नाराज थे। बाद में उन्होंने कहा कि ट्विटर द्वारा किया गया सत्यापन झूठा था। इसके अलावा ट्रंप ने ट्विटर पर अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया था।

 

इससे पहले ट्विटर ने ट्रंप के बेटे के ट्वीट पर कार्रवाई की थी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप लगातार दावा करते हैं कि कोरोना के खिलाफ हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा प्रभावी है। वीडियो, जिसे ट्रंप जूनियर ने ट्वीट किया था। ट्विटर के अनुसार, उस ट्वीट ने भी कोविड-19 के बारे में गलत जानकारी देने के साथ नियमों का उल्लंघन किया था। ट्रंप सहित कुछ ने दावा किया कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन एक प्रभावी मलेरिया-रोधी दवा थी। हालांकि चिकित्सा परीक्षणों में इस दावे की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD