[gtranslate]
world

ट्रंप के समर्थकों की हिंसा से भड़के उपराष्‍ट्रपति माइक पेंस, कहा संसद के इतिहास का यह काला दिन

अमेरिकी संसद में डोनाल्‍ड ट्रंप के समर्थकों के खूनी हिंसा से भड़के उपराष्‍ट्रपति माइक पेंस ने इसे संसद के इतिहास का काला दिन करार दिया है। उन्‍होंने कहा कि हिंसा की ‘कभी जीत नहीं हो सकती है।’ उन्होंने आगे कहा कि शांतिपूर्ण विरोध हर अमेरिकी का अधिकार है, लेकिन हमारे कैपिटल पर इस हमले को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और शामिल लोगों को कानून की पूरी हद तक मुकदमा चलाया जाएगा। हिंसा और विनाश अमेरिका कैपिटल में जगह लेना बंद करना होगा। यह अब बंद होगा। इसमें शामिल किसी को भी कानून प्रवर्तन अधिकारियों का सम्मान करना चाहिए और तुरंत इमारत छोड़ देना चाहिए। हम यहां हुई हिंसा की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं।

अमेरिकी संसद पर कब्‍जे की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारियों को जहां ट्रंप ने ट्वीट करके उकसाने का काम किया, वहीं माइक पेंस ने हिंसा के बाद 6 घंटे से ज्‍यादा भाषण देकर प्रदर्शनकारियों की कड़ी आलोचना की। गुरुवार सुबह उपराष्‍ट्रपति माइक पेंस ने रात को करीब पौने चार बजे भारतीय समायनुसार करीब दो बजे दोपहर जो बाइडन के जीत का ऐलान कर दिया। अमेरिकी संसद में करीब 15 घंटे तक चली बहस और दंगे के बाद माइक पेंस ने बाइडन के इलेक्‍टोरल कॉलेज के वोटों के आधार पर जीत की घोषणा कर दी। इस बीच डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि 20 जनवरी को जो बाइडन को ‘व्यवस्थित’ तरीके से सत्ता का हस्तांतरण होगा।

अमेरिका के उद्योगपति भी हिंसा पर मुखर होकर सामने आने लगे। एक्सान मोबिल कॉर्प, फाइजर इंक और टोयोटा मोटर कॉर्प सहित 1400 कंपनियों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक महत्वपूर्ण संयुक्त राज्य अमेरिका व्यापार समूह के प्रमुख ने वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारियों से आग्रह किया कि वे निवर्तमान राष्ट्रपति के समर्थकों के अमेरिकी कैपिटल पर धावा बोलने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को पद से हटाने पर विचार करें।

नेशनल एसोसिएशन ऑफ मैन्युफैक्चरर्स के अध्यक्ष और सीईओ जे टिमंस ने कहा कि ट्रम्प ने “सत्ता बनाए रखने की कोशिश में हिंसा भड़कायां, और उनका बचाव करने वाला कोई भी निर्वाचित नेता संविधान के लिए अपनी शपथ का उल्लंघन कर रहा है और अराजकता के पक्ष में लोकतंत्र को खारिज कर रहा है। अमेरिका के निवर्तमान उपराष्ट्रपति माइक पेंस, जिन्हें कैपिटल से निकाला गया था, को लोकतंत्र को संरक्षित करने के लिए 25वें संशोधन का आह्वान करने के लिए मंत्रिमंडल के साथ काम करने पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।

You may also like

MERA DDDD DDD DD