[gtranslate]
world

जाते-जाते कहीं परमाणु हमला न कर दें ट्रंप, अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष ने जताई आशंका

अमेरिक में संसद पर हुए बवाल के बाद अब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर दवाब बढ़ता जा रहा है। डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थकों द्वारा हिंसा फैलाने के बाद से अमेरिका में तनाव बरक़रार है। अब अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी को डर सता रहा है कि ट्रंप कहीं परमाणु हमला न कर दें। उन्हें आशंका है कि जाते-जाते ट्रंप परमाणु हमले को अंजाम न दे दें। इसी को ध्यान में रखते हुए नैंसी द्वारा 8 जनवरी को ‘ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ’ के चेयरमैन से चर्चा की गई। जिससे ट्रंप को सैन्य कार्रवाई शुरू करने या परमाणु हमले करने से रोका जा सके।

पेलोसी की ओर से सभी प्रतिनिधि सभा के डेमोक्रेटिक सदस्यों को एक चिट्ठी लिखी गई है। चिट्ठी में लिखा गया है कि जनरल मार्क से इस विषय पर गंभीर चर्चा की गई है। साथ ही उन्होंने लिखा है कि उन्हें भय है कि ट्रंप अस्थिर राष्ट्रपति बदले की भावना से परमाणु मिसाइल दागने के लिए ‘लॉन्च कोड’ तक पहुंच सकते हैं। इसलिए परमाणु हमले का आदेश देने से रोकने के लिए हर जरुरी कदम पर चर्चा करने के लिए जनरल मार्क के साथ उन्होंने बातचीत की।

खुद को फंसता देख बुरी तरह डरे ट्रंप, सत्ता हस्तांतरण को तैयार

नैन्सी पेलोसी ने कहा कि अगर ट्रम्प स्वेच्छा से पद से इस्तीफा नहीं देते हैं, तो संसद उन पर कार्रवाई करेगी। उन्होंने राष्ट्रपति निक्सन का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि कैसे 50 साल पहले राष्ट्रपति निक्सन को संसद से इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया गया था। डेमोक्रेट नेता ने कहा कि आज राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उसी तरह से खतरनाक राजद्रोह किया है। उन्होंने संसद में रिपब्लिकन सीनेट के सदस्यों से ट्रम्प का अनुसरण करने के लिए ट्रम्प से अपने कार्यालय को तुरंत छोड़ने के लिए कहने का आग्रह किया। अगर ट्रम्प स्वेच्छा से राष्ट्रपति के पद को नहीं छोड़ते हैं, तो अमेरिकी संसद आगे की कार्रवाई करेगी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD