[gtranslate]
world

बदलते रुख के बीच आज होगी  ट्रंप और मोदी की मुलाकात  

बीते दिनों भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर पर जो फैसला लिया और उसके बाद से ही डोनाल्ड ट्रंप और अमेरिकी प्रशासन की ओर से जो बयानबाजी हुई उस बीच ये मुलाकात काफी मायने रखती है। ट्रंप कश्मीर मसले पर मध्यस्थता की बात करते आए हैं, लेकिन अपनी बात से पलटते हुए भी आए हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय फ्रांस में हैं और वहां पर जारी G-7 समिट में बतौर अतिथि हिस्सा लेने पहुंचे हैं। इस समिट से इतर हर किसी की नजर नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच होने वाली बैठक. पर है। बीते दिनों भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर पर जो फैसला लिया और उसके बाद से ही डोनाल्ड ट्रंप और  अमेरिकी प्रशासन की ओर से जो बयानबाजी हुई उस बीच ये मुलाकात काफी मायने रखती है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बीते दिनों एक बयान ऐसा दिया था, जिससे भारतीय उपमहाद्वीप की राजनीति में भूचाल-सा आ गया था। पकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के सामने ट्रंप ने कहा था कि वह कश्मीर मसले पर मध्यस्थता को तैयार हैं और इसके लिए उन्होंने पीएम मोदी से भी बात की है। ट्रंप के इस बयान  पर काफी बवाल हुआ, भारत सरकार ने इसपर सफाई दी और बाद में ट्रंप के इस दावे को झूठा करार दिया।

भारत सरकार के जवाब के बाद अमेरिका के कई सीनेट, व्हाइट हाउस की तरफ से आनन-फानन में सफाई दी गई और बताया कि जम्मू-कश्मीर का मसला भारत और पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मामला है, इसमें तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं है।

अपने पहले बयान के बाद जब विवाद हुआ तो डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर इसपर बयान दिया और कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री उन्हें मध्यस्थता के लिए कहते हैं तो वह इसके लिए तैयार हैं। यानी वह अपनी उस बात से मुकर गए हैं, जहां उन्होंने मोदी के द्वारा पेशकश का दावा किया था। और हाल ही में कुछ दिनों पहले ही उन्होंने फिर इस बात को दोहराया और मध्यस्थता के लिए तैयार रहने को कहा।

इस सभी के बीच आज 26 अगस्त को  डोनाल्ड ट्रंप और नरेंद्र मोदी मिल रहे हैं. ट्रंप ने फ्रांस रवाना होने से पहले कहा था कि वह मोदी से कश्मीर मसले पर बात करेंगे। इससे पहले दोनों फोन पर भी बात कर चुके हैं, ऐसे में ये देखना होगा कि जब दोनों नेता आमने-सामने होंगे तो क्या फैसला होता है और रुख किस तरह का रहता है, क्योंकि भारत हर बार और दुनिया के हर मंच पर इस बात को साफ कर चुका है कि जम्मू-कश्मीर को लेकर जो भी विवाद है वह भारत-पाकिस्तान के बीच का है, अनुच्छेद 370 को लेकर जो फैसला है वह भारत का आंतरिक मसला है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD