[gtranslate]
world

भारतीय विंग कमांडर वर्धमान की रिहाई को लेकर गरमाई पाकिस्तान की सियासत

भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का पाकिस्तानी संसद में एक बार फिर जिक्र किया गया है। एक प्रमुख पाकिस्तानी विपक्षी नेता के एक बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इमरान खान सरकार ने सफाई दी है कि भारतीय वायु सेना विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को रिहा करने के लिए पाकिस्तानी सेना या सरकार पर कोई दबाव नहीं था।

गौरतलब है कि हाल ही में पाकिस्तानी सांसद अयाज सादिक ने पाकिस्तान की संसद में दावा किया कि मुझे उस बैठक में खुद महमूद शाह कुरैशी याद हैं। जिसमें इमरान खान ने आने से मना कर दिया था। कुरैशी के पैर काँप रहे थे। सिर पर पसीना था। कुरैशी ने हमसे कहा कि अब इसे भगवान के लिए वापस जाने दें। क्योंकि रात के 9 बजे हिंदुस्तान पाकिस्तान पर हमला कर रहा है। जिसके बाद पाकिस्तान ने अभिनन्दन को रिहा कर दिया था।

पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने पाकिस्तानी संसद में बड़ा बयान देते हुए कहा है कि भारत के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को भारत के डर से पाकिस्तान ने छोड़ दिया था। आसिफ ने कहा कि भारत सरकार के बारे में पाकिस्तानी अधिकारियों में ऐसा डर था जिसके कारण उन्होंने सोचा कि अगर उन्होंने समय बर्बाद नहीं किया, तो वे तुरंत वर्धमान को रिहा कर देंगे और हिंदुस्तान के खिलाफ अपने घुटने टेक देंगे। भारत को खुश करने के लिए कमांडर को रिहा कर दिया गया।

सादिक की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विदेश कार्यालय के प्रवक्ता जाहिद हफीज चौधरी ने कहा कि पाकिस्तान पर विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने का कोई दबाव नहीं था। प्रवक्ता ने अपने साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि यह निर्णय पाकिस्तान सरकार ने शांति के साथ लिया था। इस निर्णय का अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने स्वागत किया था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD