[gtranslate]
world

रिपब्लिकन के वो दस सांसद जिन्होंने किया है महाभियोग के पक्ष में वोट

ट्रम्प 20 अगस्त को व्हाइट हाउस में करेंगे इराक के प्रधानमंत्री की मेजबानी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ अमेरिकी संसद के निचले सदन यानी हाउस ऑफ़ रिप्रेज़ेन्टेटिव्स ने महाभियोग प्रस्ताव को पारित कर दिया गया है। अब यह प्रस्ताव संसद के ऊपरी सदन सीनेट में उन आरोपों का ट्रायल होगा। ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने पिछले सप्ताह कैपिटल हिल में हुई हिंसा में अपने समर्थको को उकसाया था। कैपिटल हिल यानी अमेरिकी संसद में हुए हमले में पांच लोगों की मौत हो गई थी, जिनमें एक पुलिस अधिकारी भी शामिल था।

ट्रंप अमेरिकी इतिहास में पहले ऐसे राष्ट्रपति हैं जिनको अपने कार्यकाल के दौरान दो बार महाभियोग का सामना करना पड़ रहा है। इससे पहले दिसंबर में उन पर महाभियोग लाया गया था। क्योंकि उन्होंने यूक्रेन में अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन पर जांच करने के आदेश कहकर कानून को तोड़ा था। पंरतु उस दौरान सीनेट ने ट्रंप को आरोपों से मुक्त कर दिया था। लेकिन इस बार उनके खिलाफ उनकी ही पार्टी के 10 सदस्यों ने वोट डाला है। सीनेट में ट्रायल के दौरान अगर दो-तिहाई बहुमत से प्रस्ताव पारित होता है तो उन्हें तत्काल प्रभाव से अपने पद से हटना पड़ेगा। यह भी हो सकता है कि उन्हें अब दोबारा किसी भी पब्लिक ऑफ़िस के अयोग्य ठहरा दिया जाए। 20 जनवरी को ट्रंप का कार्यकाल समाप्त होने वाला है। इतने कम समय में उनके खिलाफ ट्रायल का होना असंभव लगता है।

बुधवार को 13 जनवरी अमेरिकी संसद के निचले सदन में खूब गहमागहमी। संसद अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने पूर्व राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के शब्दों को कोट करते हुए कहा, “हमलोगों के पास अधिकार है और ज़िम्मेदारी भी।” रिपब्लिक पार्टी के 10 सांसदों ने महाभियोग प्रस्ताव के पक्ष में वोटिंग की। उनके नाम हैं, लिज़ चेनी, एडम किनज़िंगर, जॉन काटको, एंथनी गोनज़ालेज़, टॉम राइस, डैन न्यूहाउस, जेम हेरेरा ब्यूटलर, फ़्रेड उपटन, डेविड वालाडाओ, पीटर माइजर। एडम किनजिंगर ने ट्वीट कर कहा कि यह आज महाभियोग के समर्थन में मतदान करने का एक महत्वपूर्ण क्षण था। अमेरिकी कैपिटल, लोकतंत्र के हमारे प्रतीक पर चलने के लिए, और एक सप्ताह पहले हमने यहां देखे गए हिंसक विद्रोह को याद किया। यह एक वोट नहीं है जिसे मैंने हल्के में लिया, बल्कि एक ऐसा वोट जो मैंने आत्मविश्वास से लिया। मैं अब शांति से हूं। अब देखना होगा कि क्या सीनेट में ट्रंप पर महाभियोग चलाने का प्रस्ताव पारित होता है, या ट्रंप खुद ही 20 जनवरी को हट जाएंगे।

You may also like

MERA DDDD DDD DD