[gtranslate]
world

ईरान में भयंकर जल संकट, पानी की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने बरसाई गोलियां !

“जल ही जीवन है” ये तो हम सदा से सुनते आ रहे हैं लेकिन जल को बचाने की कवायद में हम सभी अभी भी असफल साबित हो रहे हैं। इसी जल को लेकर दक्षिण पश्चिम ईरान की जनता अब सड़कों पर उतर आई है। सड़कों पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं और मुद्दा है जल संकट। दुनियाभर में कई विरोध-प्रदर्शन होते हैं। लेकिन ईरान का ये प्रदर्शन इस समय चर्चा में है क्योंकि इस प्रदर्शन में लोग पानी मांग रहे हैं क्योंकि भोजन के बिना एक दिन रह भी लिया जाएं लेकिन पानी के बिना एक दिन भी रहना असम्भव है।

इस  विरोध प्रदर्शन में चौंकाने वाली बात यह है कि पानी मांग रही जनता को पानी तो नहीं लेकिन मौत जरूर दी जा रही है। दरअसल, रविवार, 18 जुलाई को दक्षिण पश्चिम ईरान में पानी की किल्लत को लेकर हो रहे प्रदर्शन के दौरान पुलिस की ओर से गोलीबारी की गई। ये खुलासा एक वीडियो वायरल होने के बाद सामने आया है।   वीडियो ‘ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट्स इन ईरान’ की ओर से जारी किया गया है। ‘ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट न्यूज एजेंसी’ के वीडियो में देखा जा सकता है कि ईरान के अशांत खुजेस्तान प्रांत में प्रदर्शनों के केंद्र रहे सूसनगर्द में गोलीबारी की जा रही  है।

‘गंभीर सूखे’ से ग्रस्त हुआ ईरान

प्रदर्शनों के दौरान कम से कम एक व्यक्ति की मौत हुई है। इसकी पुष्टि खुद प्रांत के उप गवर्नर ने की है। उन्होंने सरकारी समाचार एजेंसी ‘आईआरएनए’ को बताया कि शादेगान शहर में दंगाइयों ने एक व्यक्ति की हत्या कर दी।  प्रदर्शनों के दौरान लोगों की मौत का दोष ईरान की सरकार प्रदर्शनकारियों को देती रही है। वीडियो में एक पुलिस अधिकारी पिस्तौल से हवा में फायरिंग करता नजर आ रहा है। मोटरसाइकिल पर दंगा रोधी पुलिसकर्मी सवार होकर प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी कर रही है।

ईरान में इससे पहले भी जल संकट को लेकर प्रदर्शन होते रहे हैं। अधिकारियों के मुताबिक यहां गंभीर सूखे की स्थिति है। यहां कई हफ़्तों से लोग पानी की किल्लत का सामना कर रहे हैं।  ईरान में पिछले वर्ष लगभग 50 फीसदी कम बारिश होने के चलते अब बांधों में बहुत कम पानी शेष है।

पाकिस्तान भी जूझ रहा है जल संकट से

जल संकट का सामना सिर्फ ईरान ही नहीं बल्कि पाकिस्तान भी कर रहा है। जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के बलूचिस्तान में पीने के साफ पानी की कमी के साथ-साथ वाटर फिल्टर प्लांट में भीषण कमी के कारण हेपेटाइटिस के मामलों में भारी वृद्धि हुई है। रिपोर्ट के अनुसार, प्रांत स्वच्छ पेयजल की भारी कमी का सामना कर रहा है, जिसके कारण लोग तालाबों और झीलों के दूषित पानी का उपयोग करने को विवश है।

America ने दुष्प्रचार कर रही Iran की तीन दर्जन वेबसाईट्स को किया सीज

You may also like

MERA DDDD DDD DD