world

वर्ल्ड के लंग्स को बचाने के शुरू हुए गंभीर प्रयास

‘दुनिया का फेफड़ा’ कहे जाने वाले ब्राज़ील के अमेज़न जंगल की बढ़ती आग पर 15 दिनों बाद अब जाकर स्थिति पर काबू पाने की पहल की गयी है।  दुनिया को 20 प्रतिशत ऑक्सीजन देने वाले इस जंगल को बचाने की लिए बोलिविया के राष्ट्रपति ईवो मोरालेस द्वारा 22 अगस्त को ऐलान किया कि बोलीविया द्वारा अमेजन के जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए सुपरटैंकर ‘बोइंग 747’ विमान को उपयोग में लाया जायेगा ,जो अमेजन के विशाल जंगलों की आग को बुझाने में मदद करेगा। उन्होंने बताया कि दुनिया के इस सबसे बड़े टैंकर से आग बुझाने का काम शुक्रवार से शुरू किया जाएगा। इस सुपरटैंकर का नाम ‘बोइंग 747’ विमान है, जो लगभग 20000 गैलन पानी ले जा सकता है।  इस सुपरटैंकर को विशाल जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए जाना जाता है।

इस “बोइंग 747” विमान से उड़ान भरकर वन्यजीवों पर पानी छोड़ा जा सकता है। ये सुपरटैंकर दुनिया के किसी भी अन्य विमान की तुलना में अधिक पानी ले जा सकता है। ये सुपरटैंकर 100 एयर टैंकरों के बराबर 115, 000 लीटर पानी के साथ उड़ान भरने में सक्षम है। वहीं, ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो द्वारा आग लगने की इस घटना के लिए एनजीओ को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उनका कहना है कि ग्रीन ग्रुप्स ने मेरी सरकार को बदनाम करने के लिए यह साजिश रची है। उन्होंने ने आशंका जताई है कि ग्रीन ग्रुप्स ऐसा इसलिए कर रहा है क्योंकि उनकी सरकार ने उनकी फंडिंग कम कर दी है। ब्राजील की स्पेस एजेंसी द नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस रिसर्च के मुताबिक, इस साल अमेजन में सबसे ज्यादा आग लगने की घटनाएं हुई हैं। एजेंसी का कहना है कि जनवरी से अगस्त के बीच करीब 73 हजार आग लगने की घटनाएं सामने आई हैं। वहीं, विशेषज्ञों का कहना है कि ब्राजील में जंगलों की कटाई के कारण आग लगने की घटनाएं बढ़ रही हैं।

You may also like