world

जारी रहेगा उत्तर कोरिया से बातचीत का दौर ,अमेरिका 

कई बार परमाणु समझौते पर बातचीत करने के बाबजूद उत्तर कोरिया और अमेरिका के हाथ असफलता ही आई है। इस बीच अमेरिका और परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया के बीच कल पांच अक्टूबर को  एक बार फिर परमाणु मुद्दे पर किसी समझौते तक पहुंचने की संभावना थी,लेलिन  निरस्त्रीकरण के मुद्दे पर अमेरिका से वार्ता स्थगित हो गई है।  अमेरिका के विदेश विभाग ने अभी भी यही बयान दिया है कि दोनों पक्षों में अच्छी बात हुई और अगले दो सप्ताह में एक और बैठक की योजना है। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, परमाणु निरस्त्रीकरण के मुद्दे पर उत्तर कोरिया और अमेरिका के प्रतिनिधिमंडल ने कल 5 अक्टूबर  शनिवार को स्टॉकहोम में अपनी वार्ता बहाल की, जो फरवरी में अनिर्णीत समाप्त हुई थी।

बैठक के बाद, दोनों पक्षों ने मीडिया को अलग-अलग बयान दिए और इस पर भी सहमत नहीं हुए कि भविष्य में वार्ता होगी कि नहीं। सबसे पहले उत्तर कोरिया के मुख्य वार्ताकार किम म्योंग-गिल ने एक बयान में संवाददाताओं से कहा कि निरस्त्रीकरण के मुद्दे पर वाशिंगटन का रुख लचीला नहीं है इसलिए वार्ता रद्द हो गई है।

नार्थ कोरिया ने फिर धमकाया अमेरिका

सूत्रों के अनुसार , किम ने कहा, ‘वार्ता हमारी अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतरी और अंत में खत्म हो गई।’ इसके कुछ घंटों बाद अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता मोर्गन ऑर्टागस ने एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया का पूर्व का बयान आज 8.5 घंटों तक चली वार्ता को प्रदर्शित नहीं करता है।ऑर्टागुस ने कहा, ‘अमेरिका ने रचनात्मक विचार साझा किए और अपने डीपीआरके समकक्षों के साथ अच्छी वार्ता की।’ वाशिंगटन के अनुसार, वार्ता में अमेरिकी प्रतिनिधि ने पिछले साल 12 जून को सिंगापुर में हुए सम्मेलन के बाद के कार्यक्रमों की समीक्षा की, जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन ने कोरियाई प्रायाद्वीप को पूर्ण रूप से परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए प्रतिबद्धता जताई थी। ऑर्टागस ने कहा, ‘वाशिंगटन ने उत्तर कोरिया से वार्ता जारी रखने के लिए दो सप्ताह में वापस लौटने के स्वीडन सरकार के आमंत्रण को स्वीकार कर लिया है।’

You may also like