[gtranslate]
world

सुषमा को याद कर रहा है पाकिस्तान

भारत की विदेश मंत्री रहीं स्व. सुषमा स्वराज का एक पुराना वीडियो इन दिनों पाकिस्तान में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। पाकिस्तानी नेटिजन्स अपने राजनेताओं को याद दिला रहे हैं कि साथ-साथ आजाद दोनों देशों, भारत और पाकिस्तान में क्या फर्क है। जहां भारत ने हर क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति कर विश्व में अपनी साख बनाई है, वहीं पाकिस्तान दहशतगर्दों की पनाहगाह बनकर रह गया है। भारतीय मूल के पराग अग्रवाल का ट्विटर की कमान संभालने के बाद से ही पाकिस्तान में इस बात की काफी चर्चा हो रही है कि स्व. सुषमा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र में दिए अपने भाषण में पाकिस्तान की जो तस्वीर उकेरी थी वह पूरी तरह से वास्तविकता के करीब है। गौरतलब है कि गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, अडोबी, ईबीएम, पालो अल्टो नेटवर्क्स के बाद जानी मानी कंपनी ट्विटर में भारत वंशी पराग अग्रवाल को ट्विटर ने अपना प्रमुख बनाया है। दुनिया में एक बार फिर से भारतीय लोगों की योग्यता का लोहा माना गया है। पराग की इस उपलब्धि के बाद पूरे विश्व भर में उनको सराहा जा रहा है। पराग के लिए यह उपलब्धि जितनी महत्त्वपूर्ण है, उससे कहीं ज्यादा भारत के लिए गर्व की बात है। यह भारतीयों के अटूट आत्मविश्वास और मेहनत को दर्शाता है।

अमेरिकी सोशल वर्किंग कंपनी ट्विटर की कमान 37 साल के पराग अग्रवाल को सौंपी गयी है। उन्होंने 2005 में आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग में बी टेक की पढ़ाई की है। 2011 में पराग ने ट्विटर में नौकरी शुरू की थी। 2017 में वे सीटीओ और अब सीईओ बने हैं। पराग की इस उपलब्धि की चर्चा दुनिया भर में हो रही है। यहां तक कि पड़ोसी पकिस्तान की जनता पराग के बहाने अपनी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। पराग अग्रवाल की इस उपलब्धि के बीच भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का भाषण सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। उन्होंने यह भाषण 4 साल पहले संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में दिया था। भाषण का वीडियो क्लिप पाकिस्तानी ट्विटर हैंडलर्स के द्वारा भी शेयर किया जा रहा है। पूर्व विदेश मंत्री के इस भाषण के जरिए पकिस्तान के लोग अपनी सरकार की नीतियों पर सवाल उठा रहे हैं।


वायरल वीडियो में स्वराज कहती हैं ‘हमने आईआईटी बनाए’, ‘हमने आईआईएम बनाए’, ‘हमने एम्स जैसे अस्पताल बनाए’, ‘हमने अंतरिक्ष के क्षेत्र में विश्व प्रसिद्ध संस्थान बनाए’ लेकिन पाकिस्तान वालों, आपने क्या बनाया? आपने हिज्बुल मुजाहिदीन, हक्कानी नेटवर्क, जैश-ए-मोहम्मद बनाया और लश्कर-ए-तैयबा बनाया। हमने स्कॉलर, साइंटिस्ट और डॉक्टर पैदा किए और आपने जिहादी पैदा किया।’ सुषमा स्वराज के इस भाषण का वीडियो क्लिप जाने-माने पाकिस्तानी ट्विटर यूजर सुहैल नूर खान ने ट्वीट किया है। वीडियो क्लिप को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा है, ‘भारत और पाकिस्तान में यही अंतर है। भारतीय मूल के पराग अग्रवाल ट्विटर के सीईओ बने हैं। उन्होंने आईआईटी बॉम्बे से पढ़ाई की है। तालिबान ने आतंकवाद की ट्रेनिंग पाकिस्तान में ली और अफगानिस्तान में शासक बन गया। इस ट्वीट को शेयर करते हुए ‘पाकिस्तान के हमजा बलोच ने भी इसे रीट्वीट करते हुए लिखा है- ये भारत ने दिए और हमने?’

आइरिश-अमेरिकी वित्तीय सेवा और सॉफ्टवेयर कंपनी स्ट्राइप से सीईओ पैट्रिक कोलिसन ने पराग के सीईओ बनने के बाद 29 नवंबर को एक ट्वीट किया था। इस ट्वीट में पैट्रिक ने लिखा था, ‘गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, एडोब, पालो अल्टो नेटवर्क्स के बाद अब ट्विटर की कमान भी भारत में पले-बढ़े सीईओ के हाथ में होगी। तकनीक की दुनिया में भारतीयों की सफलता की कहानी गजब की है। इससे ये भी पता चलता है कि अमेरिका प्रवासियों को मौके दे रहा है। पराग आपको बधाई। इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए टेस्ला मोटर्स के सीईओ एलन मस्क ने लिखा, ‘भारतीय प्रतिभा से अमेरिका को काफी फायदा है।’’ पैट्रिक के इसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए पाकिस्तान में सर्वे ऑटो इंक के सीईओ उमर सैफ ने लिखा है, ‘डियर पाकिस्तान, प्रतिस्पर्धा के लिए ये क्षेत्र सबसे अच्छा क्षेत्र है।’

मुबाशिर नाम के एक पाकिस्तानी ट्विटर यूजर्स ने एक तरफ भारत के चर्चित सीईओ की तस्वीर लगाई है और दूसरी तरफ पाकिस्तान के कुख्यात चरमपंथियों की। इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए मुबाशिर ने लिखा है, ‘भारत बनाम पाकिस्तान।’
वहीं पाकिस्तान के चर्चित पत्रकार वसीम अब्बासी ने पैट्रिक के ट्वीट पर प्रतिक्रिया वाले एलन मस्क के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा है, ‘गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, एडोब, आईबीएम, पालो अल्टो नेटवर्क्स और अब ट्विटर भारतीयों के हाथों में अब्बासी के इस ट्वीट को मुबाशिर ने भी रीट्वीट किया है।’ अदनान सिद्दीकी नाम के एक ट्वीटर यूजर ने लिखा है, ‘एक तरफ भारत है, जो दुनिया को अपना बेस्ट ब्रेन दे रहा है और अपनी पहचान बना रहा है और दूसरी तरफ हम हैं।’ पाकिस्तान के ही अली अजहर नाम के एक और ट्विटर यूजर ने सत्या नडेला, सुंदर पिचाई और पराग अग्रवाल की तस्वीर लगाई है और दूसरी तरफ पाकिस्तान की कुछ तस्वीरें। इस कॉलेज को ट्वीट करते हुए उन्होंने कैप्शन दिया है ‘दुश्मन और अपुन’ बहरहाल, पाकिस्तान की हालत छुपाए नहीं छुपी है। पाकिस्तान की जनता का इमरान सरकार की ओर बढ़ता आक्रोश बारी-बारी नजर आता रहा है। जहां पाकिस्तान की जनता को रोजमर्रा की सुविधाएं प्राप्त कराने में असमर्थ है, वहां अंतरराष्ट्रीय पद पर सुविधाएं दे पाना आसान नहीं है।

भारतीय मूल का विदेशों में डंका
विदेशों में भारतीय मूल के लोगों का डंका पहले भी बजता रहा है। ट्विटर की कमान भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को मिलने के पहले भी कई भारतीय मल्टी नेशनल कंपनियों की कमान संभाल रहे हैं। इनमें गूगल प्रमुख सुंदर पिचाई, माइक्रोसॉफ्ट में सत्या नडेला, आईबीएम की कमान अरविंद कृष्णा के हाथों में तो एडोब शांतनु नारायण के पास है। क्लाउड कंप्यूटिंग कंपनी वीएम वेयर की कमान रंगराजन रघुराम के पास, ऑनलाइन वीडियो प्लेटफॉर्म विमो की कमान अंजली सूद के हाथों में तो गूगल क्लाउड के प्रमुख थॉमस कुरियन हैं। पालो अल्टो नेटवर्क्स की कमान निकेश अरोड़ा के पास है।

विदेशों में भारतीय मूल की महिलाएं
भारतीय मूल की महिला प्रियंका राधाकृष्णन न्यूजीलैंड के इतिहास में केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान प्राप्त करने वाली पहली महिला बनीं। कमला हैरिस, 2020 अमेरिकी उपराष्ट्रपति बनी। इससे पहले 2011 से 2017 तक स्टेट अटार्नी जनरल भी रही। कमला प्रसाद बिसेसर, त्रिनिदाद की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी थीं। प्रीति पटेल, ब्रिटिश राजनीतिज्ञ और ब्रिटेन की मौजूदा गृह सचिव हैं। निक्की हेली, 2011 से 2017 तक साउथ कैरोलाइन प्रांत की गवर्नर रहीं। आने वाले समय में रिपब्लिकन पार्टी से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार भी हो सकती हैं। अनीता आनंद, कनाडा में लिबरल पार्टी की सदस्य और फेडरल मिनिस्टर के पद पर अपना हक जमाया हुआ है। रूबी धल्ला और नीना
ग्रेवाल, कनाडा के हाउस ऑफ कॉमन्स में अपनी सेवाएं देने वाली भारतीय मूल की पहली दो सिख महिलाए हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD