[gtranslate]
world

उत्तर कोरिया ने अपनी सैन्य परेड से अमेरिका को कराया अपनी ताकत का एहसास

पूरी दुनिया में अपनी सनक और तानाशाही के लिए जाने जाने वाले उत्तर कोरिया के किम जोंग उन ने पहली बार अपनी गलती स्वीकार की है। सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी की एक बैठक में उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह, जो पूरी दुनिया को त्रस्त कर रहे हैं। उसने स्वीकार किया कि उनकी पांच साल की आर्थिक योजना पूरी तरह से विफल रही और हर क्षेत्र में नकारात्मक प्रभाव देखा जा रहा है। उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता ने अपने संबोधन में कहा कि पिछले 5 वर्षों में हम विकास के लिए निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने में विफल रहे हैं।

स्थानीय मीडिया केसीएनए के अनुसार, किम जोंग उन ने अपने संबोधन में कहा कि देश ने अपनी ताकत और वैश्विक प्रतिष्ठा को मजबूत करने में एक चमत्कारिक जीत हासिल की, लेकिन 2016 में हमने जो पांच साल की आर्थिक योजना बनाई वह पूरी तरह से विफल रही। हम हर क्षेत्र में नकारात्मक प्रभाव देख रहे हैं। उन्होंने आगे कहा, ‘हमें अपनी सफलताओं और जीत को आगे बढ़ाना चाहिए, जिसे हमने कड़ी मेहनत के बाद हासिल किया है। साथ ही, हमें अतीत में मिले कुछ कड़वे अनुभवों से भी सीखना होगा।

लेकिन इस बीच उत्तर कोरिया की सैन्य परेड की कुछ तस्वीरों ने अमेरिका समेत पूरी दुनिया को तनाव में डाल दिया है। सैन्य परेड से जुड़ी इन तस्वीरों को उत्तर कोरिया के सामूहिक विनाश के हथियारों के रूप में देखा जा रहा है। इसमें पनडुब्बी से प्रक्षेपित एक बेहद खतरनाक नई बैलिस्टिक मिसाइल (SLBM) भी शामिल है। तानाशाह किम जोंग उन ने इस परेड के जरिए अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन को एक स्पष्ट संदेश देने की कोशिश की है कि अगर उत्तर कोरिया के प्रति अमेरिका का रवैया नहीं बदलता है तो परिणाम भयानक हो सकते हैं।

वन टू वन वेपन्स

कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (KCNA) के अनुसार, वर्कर्स पार्टी की बैठक के बाद आयोजित परेड में सैन्य शक्ति का प्रदर्शन किया गया। इस परेड में तानाशाह किम जोंग उन ने एक से बढ़कर एक घातक हथियार पेश किए, जिसमें पनडुब्बियों से दागी जाने वाली मिसाइलें भी शामिल थीं। परेड के अंत में एक नई कम दूरी की मिसाइल का भी प्रदर्शन किया गया। कहा जाता है कि यह मिसाइल पलक झपकते ही भयानक विनाश कर सकती है।

केसीएनए द्वारा जारी की गई तस्वीरों में किम जोंग एक टोपी और चमड़े का कोट पहने हुए दिखाई दे रहा है जो काले फर से बना है। परेड के दौरान किम जोंग उन ने किम इल सुंग चौक पर मौजूद हजारों सैनिकों और आम जनता का स्वागत किया। चौक का नाम किम के दिवंगत पिता के नाम पर रखा गया है। उत्तर कोरियाई एजेंसी के अनुसार, जब हजारों सैनिकों के साथ अत्याधुनिक हथियार चौक से गुजरे तो लोगों ने नारों और तालियों से उनका स्वागत किया।

परेड में उत्तर कोरिया की सेना सबमरीन से दागी गई मिसाइल पुकगुकसॉन्ग -5 के साथ थी। इससे पहले अक्टूबर में, पुकगुकसॉन्ग -4 मिसाइल परेड में प्रदर्शित हुई थी। यानी उत्तर कोरिया ने इस घातक मिसाइल को अपग्रेड कर दिया है। केसीएनए ने कहा कि दुनिया की सबसे खतरनाक हथियार मानी जाने वाली इस मिसाइल का प्रदर्शन परेड में किया गया, जो क्रांतिकारी सेना की ताकत को दिखाती है।

उत्तर कोरिया ने 14 जनवरी, गुरुवार को परेड के दौरान देश की सबसे बड़ी अंतरमहाद्वीपीय मिसाइल (ICBM) का प्रदर्शन नहीं किया। कहा जाता है कि यह अमेरिका के किसी भी कोने में परमाणु बम गिराने में सक्षम है। बता दें कि वर्कर्स पार्टी की बैठक में किम जोंग-उन ने परमाणु हथियारों की ताकत और मिसाइलों के भंडार को बढ़ाने की घोषणा की। वहीं, विशेषज्ञों का कहना है कि इस बयान और शक्ति प्रदर्शन के जरिए किम जोंग उन ने अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बिडेन को एक कड़ा संदेश दिया है, जो 20 जनवरी को शपथ लेने वाले हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD