[gtranslate]
world

इथियोपिया में फिर बड़ा नरसंहार, 80 से ज्यादा लोगों की मौत

अफ्रीकी देश इथियोपिया में हुई एक हिंसा में 80 लोगों की जानें चली गई। मरने वालों में मासूम बच्चों से लेकर 45 साल तक के युवा शामिल हैं। इथियोपिया की आबादी 85.2 लाख से अधिक हैं। क्षेत्रफल के हिसाब से यह अफ़्रीका का दसवां सबसे बड़ा देश है। इसकी राजधानी अदीस अबाबा है। वहां अक्सर जातीय नरसंहार  होते रहते है और हजारों आमजन लोग इसका शिकार होते रहते है। यहां जातीय हिंसा होती रहती है, और सरकारी तंत्र फेल हो जाता है। हाल ही में हुए हमले में पश्चिमी इथियोपिया में 80 से अधिक आम नागरिक मारे गए हैं। मारे गए पीड़ितों में दो साल से कम उम्र के बच्चे भी शामिल है। इथियोपिया के मानवाधिकार आयोग (EHRC) के प्रवक्ता और वरिष्ठ सलाहकार आरोन माशो ने अल जज़ीरा को बताया कि नरंसहार मंगलवार 12 जनवरी को सुबह 5 से 7 बजे की बीच हुआ, नरसंहार बेनीशंगुल-गामुज के इलाके में हुआ, जो सूडान और दक्षिण सूडान की सीमा पर लगता है।

आरोन माशो ने इथियोपिया के राजधानी अदीस अबाबा में बताया कि हमें जानकारी मिली कि 80 से अधिक लोग मारे गए, जिनकी उम्र 2 से 45 वर्ष के बीच है। अभी तक किसी भी हिंसक ग्रुप ने इस नरसंहार की जिम्मेदारी नहीं ली है। हमलावरों की पहचान के बारे में तत्काल कोई जानकारी नहीं थी। माशो ने कहा, “हम इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि हमले के अपराधियों को अभी तक अधिकारियों ने नहीं पकड़ा है।” यह हमला बेनतीशगुल-गामुज के मेटेकेल क्षेत्र में दलेटी नामक क्षेत्र में हुआ था, जो हाल के महीनों में हिंसा की पुनरावृत्ति से त्रस्त हो गया है जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए हैं। इससे पहले 23 दिसंबर को हुए एक हमले में 207 लोग मारे गए थे। माशो ने कहा कि मेटेकेल में जारी हिंसा के कारण “हजारों लोग” विस्थापित हुए हैं। ईएचआरसी के प्रवक्ता ने कहा, “हम संघीय और क्षेत्रीय अधिकारियों को जिला स्तर पर समन्वय और उपायों को मजबूत करने के लिए बुला रहे हैं।

यह भी पढ़े: 

इथियोपिया में हुए नरसंहार पर इथियोपिया मानवाधिकार ने जारी की रिपोर्ट

https://thesundaypost.in/world/ethiopian-human-rights-report-released-on-genocide-in-ethiopia/

2018 में अबी को नियुक्त किए जाने के बाद से अफ्रीका का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश बुरी तरह से घातक हिंसा का सामना कर रहा है। इस वर्ष होने वाले चुनावों ने भूमि, शक्ति और संसाधनों पर तनाव को और बढ़ा दिया है। देश के एक अलग हिस्से में, इथियोपिया की सेना उत्तरी टाइग्रे क्षेत्र में दो महीने से अधिक समय से विद्रोहियों से लड़ रही है, इस संघर्ष के कारण लगभग दस लाख लोगों को विस्थापित होना पड़ा है। इथियोपियाई सरकार ने बुधवार को कहा कि टिग्रे की पूर्व सत्तारूढ़ पार्टी के साथ तीन अधिकारियों, जिनमें पूर्व इथियोपियाई विदेश मंत्री सेउम मेसफिन मारे गए थे, क्योंकि उन्होंने सेना को आत्मसमर्पण करने से इनकार कर दिया था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD