world

कोरोना के कारण भारत ही नहीं इन देशों में भी लगा है लॉकडाउन और कर्फ्यू

कोरोना के कारण भारत ही नहीं इन देशों में भी लगा है लॉकडाउन और कर्फ्यू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित करते हुए 21 दिन तक पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान किया। प्रधानमंत्री ने मंगलवार को राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि इसे आपलोग कर्फ्यू ही मानें। ऐसा नहीं है कि सिर्फ भारत मेंं ही पूरी तरह लॉकडाउन का एलान किया गया है। कोरोना संकट को देखते हुए कई देशों ने लॉकडाउन को अनिवार्य किया है।

कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर के 50 से ज्यादा देशों ने लॉकडाउन घोषित किया है। इस वजह से करीब 230 करोड़ से ज्यादा लोग घरों में कैद हो गए हैं। इनमें से अकेले 130 करोड़ लोग भारत में आज से लॉकडाउन होंगे। करीब पांच देशों ने अपने नागरिकों से अपील की है कि वो अपने घर पर ही रहें और कम-से-कम लोगों के संपर्क में आएं।

इन देशों में ईरान, जर्मनी और ब्रिटेन भी शामिल हैं। ब्रिटेन में पिछले हफ्ते समुद्र तटों और पार्कों में भीड़ जमा होने के बाद सख्ती बरतने की चेतावनी दी गई है। वहीं, ईरान में पिछले हफ्ते नववर्ष पर लाखों लोग सड़कों पर निकले थे। इसके बाद लोगों से घरों में ही रहने की अपील की गई है।

ऑकडाउन वाले देशों में 130 करोड़ की आबादी वाला भारत सबसे बड़ा देश है। इसके अलावा फ्रांस, इटली, अर्जेंटीना, इराक, ग्रीस, रवांडा और अमेरिका का कैलिफोर्निया राज्य है। मंगलवार को कोलंबिया भी इस लिस्ट में शामिल हो गया। वहीं, न्यूजीलैंड बुधवार से लॉकडाउन होगा।

अधिकतर देशों में जरूरी काम पर जाने, मेडिकल केयर के लिए जरूरी सामान लाने की छूट है। करीब 195.9 करोड़ की आबादी वाले 35 देशों ने अनिवार्य लॉकडाउन किया है। अनिवार्य लॉकडाउन का मतलब है कि बहुत जरूरत न होने पर घर से बाहर निकलना बिल्कुल मना है। ऐसा करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा और कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसके इतर कुछ देश ऐसे हैं, जिन्होंने कुछ शहरों को आइसोलेट किया है। ऐसे देशों की आबादी करीब एक करोड़ है।

करीब 10 देश ऐसे हैं, जिन्होंने कर्फ्यू घोषित किया है। इनमें बर्किना फासो, चिली, फिलिपींस, सर्बिया, मौरीटानिया और सऊदी अरब हैं। इन देशों की आबादी 11.7 करोड़ है। कोरोनावायरस के कारण दुनियाभर के 50 से ज्यादा देशों ने लॉकडाउन घोषित किया है। इस वजह से करीब 230 करोड़ से ज्यादा लोग घरों में कैद हो गए हैं।

You may also like