[gtranslate]
world

बम धमाकों से दहला काबुल, तालिबान से नहीं संभल रहा अफगानिस्तान

TAliban

हाल ही में अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में तालिबान के सत्ता में आने के बाद एयरपोर्ट पर भीषण धमाका हुआ था, जिसमें करीब 180 लोग मारे गए थे। आईआई खोरासन ने उस विस्फोट की जिम्मेदारी ली थी। वहीं तालिबान के कब्जे के 50 दिन बाद काबुल एक बार फिर धमाकों से हिल गया है। काबुल में 3 अक्टूबर, रविवार को बड़ा धमाका हुआ। धमाका मस्जिद के बाहर हुआ, जिसमें कई लोगों के मारे जाने की आशंका है। समाचार एजेंसी एएफपी ने बताया कि रविवार को काबुल में एक मस्जिद के पास हुए विस्फोट में कई नागरिकों के मारे जाने की खबर है।

समाचार एजेंसी एएफपी ने तालिबान के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से कहा कि अफगानिस्तान की राजधानी में एक मस्जिद के बाहर हुए विस्फोट में कथित तौर पर कई नागरिक मारे गए हैं। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने विस्फोट की पुष्टि करते हुए कहा कि विस्फोट काबुल में ईदगाह मस्जिद के प्रवेश द्वार के पास हुआ।

इस धमाके के बाद अब तक कई लोगों के मारे जाने की खबरें आ रही हैं। साथ ही कई लोग घायल भी हुए हैं। जानकारी के मुताबिक तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद की मां के लिए उसी मस्जिद में प्रार्थना सभा की गई थी, जहां धमाका हुआ था।

हालांकि तालिबान सरकार की ओर से अभी तक बमबारी को लेकर कोई जानकारी नहीं दी गई है। वहीं स्थानीय लोगों के मुताबिक वहां से फायरिंग की आवाज भी सुनाई दी। फिलहाल मौके पर बड़ी संख्या में जवान और आपातकालीन सेवाएं तैनात हैं। कई घायलों को तुरंत एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया।

तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर नियंत्रण करने के बाद से रविवार को देश में सबसे बड़ी बमबारी थी। इससे पहले आईएचएस ने काबुल हवाईअड्डे पर 26 अगस्त को हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। इस हमले में 169 लोग घायल हुए थे और 13 अमेरिकी सैनिक मारे गए थे। इस्लामिक स्टेट का खुरासान समूह पूर्वी अफगानिस्तान में नंगरहार पर हावी है। खुरासान तालिबान को अपना दुश्मन मानते हैं। उसने हाल ही में तालिबान पर हुए हमलों की जिम्मेदारी ली है।

 

 

You may also like

MERA DDDD DDD DD