world

ये क्या! डांस करने पर जाना पड़ा इस लड़की को जेल

ऐसा क्‍या हुआ जो तमाम प्रतिबंध के बाद भी ईरानी लड़कियों ने अपने डांस की विडियों सोशल मीडिया में भर दी है। आपको जान कर हैरानी होगी कि ईरान में महिलाओं के डांस करने पर प्रतिबंध लगा हुआ है और वहां डांस करने पर महिलओं को दो साल से ज्‍यादा सजा हो सकती है।

महिलाओं और लड़कियों ने इतना बड़ा रिस्‍क विरोध स्‍वरूप लिया है। ईरान में हाल ही में एक घटना हुई। एक युवा लड़की मीदा होजाब्री ने अपने डांसिंग टेलेंट को सोशल मीडिया के सहारे प्रचारित किया। उसने ईरानी और बॉलीवुड संगीत पर कई डांस किए। इन विडियोज को ईरान में बहुत पसंद किया है और इनकी विडियों को लाइक और फॉलावर्स बहुत मिल गए।

लेकिन ईरान की सरकार ने इसे गौरकानूनी मानकर लड़की को जेल में डलवा दिया। इस 19 साल की लड़की के जेल में जाने से वहां अपने अधिकारों के लिए संघर्ष कर रही महिलाओं में आक्रोश भर गया और उन्‍होंने अपने विरोध का एक बेहद अनूठा तरीका खोजा। वहां महिलाओं ने जगह जगह डांस करके अपनी विडियो बनाई और उसे सोशल मीडिया में अपलोड करना शुरू कर दिया।

इसके बाद देखते ही देखते #Dancingisnotacrime, #FreeMaedeh, #MaeadeMahi  जैसे हैशटैग सोशल मीडिया में दिखाई देने लगे। जिसमें लोग विशेष कर ईरानी महिलाएं इस बच्‍ची के साथ हुई नाइंसाफी के खिलाफ आवाज उठा रही हैं।

हालांकि ईरान की सरकार ने इस पर कोई टिप्‍पणी नहीं की है और न इस प्रोटेस्‍ट से वो पिघलती दिख रही है। ईरान में ऐसे आरोपों पर सजा का इतिहास रहा है। महिलाएं वहां लंबे समय से अपने हक की लड़ाई लड़ रही हैं। इस घटना से कुछ समय पहले ही एक युवति को अपना स्‍कार्फ सार्वजनिक स्‍थल में निकालने के जुर्म में दो साल की सजा सुनाई जा चुकी है। इसका भी ईरानी महिलाओं ने विरोध किया था। लेकिन उस पर भी हुआ कुछ नहीं और तो और जज ने इस महिला को सजा सुनाते हुए सख्‍त टिप्‍पणी की और कहा कि यह इस्‍लामिक भावनाओं के खिलाफ है और ऐसे मामले में सख्‍त सजा ही होनी चाहिए। जज ने इस सजा के दौरान पहले तीन माह तक किसी भी पेरोल से भी मना कर दिया।

कई इस्‍लामिक देशों महिलाओं को सामान्‍य अधिकार भी नहीं होते। लेकिन पिछले कुछ सालों से बहुत सारे देशों ने खुद को महिलाओं के प्रति उदार बनाने की कोशिश की है। ऐसे में ईरान में डांस करने पर जेल हो जाना पूरे विश्‍व को एक गलत संदेश है। इसके उलट इरान अपने इस कदम में बिल्‍कुल अडिग है। वहां फेसबुक और ट्विटर तो पहले से ही बैन हैं अब ऐसी घटनाओं के बढ़ने के बाद इंस्‍टाग्राम पर भी पाबंदी लगाए जाने के बारे में विचार चल रहा है।

अगर प्रोटेस्‍ट और लोगों की दिलचस्‍प प्रतिक्रिया देखनी हैं तो ट्वीटर में जाकर एक बार ऊपर दिए गए हैशटैग सर्च कीजिए। पूरी दुनिया की फेमिनिस्‍ट अपने अपने तरीके से इन हैशटैग का सहारा लेकर मीदा की आजादी की मांग कर रही हैं।

You may also like