[gtranslate]
world

पकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच बढ़ता तनाव

पकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। खैबर पख्तूनख्वा में हुए आत्मघाती हमले का जिम्मेदार पाकिस्तान अफगानिस्तान को ठहरा रहा है। पाकिस्तान में यह आत्मघाती हमला 26 मार्च को हुआ था। इस हमले के दौरान पांच चीनी इजीनियरों की मौत हो गई थी।

इस हमले में तालिबान की संलिप्पता के पाकिस्तानी दावे को तालिबान ने आठ मई को ख़ारिज करते हुए इसे गैर जिम्मेदाराना एवं सच्चाई से परे’ बताया है। गौरतलब है कि इससे पहले पाकिस्तानी सेना द्वारा कहा गया था कि मार्च महीने में जिस आत्मघाती हमले में पांच चीनी इंजीनियर्स और एक पाकिस्तानी चालक की मौत हुई थी,हमला करने वाला एक अफगान नागरिक था। वहीं पडोशी मुल्क पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल अहमद शरीफ ने कहा था कि खैबर पख्तूनख्वा के बिशम जिले में 26 मार्च को हुए हमले के सिलसिले में चार लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।

पाकिस्तान को जवाब देते हुए तालिबान के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इनायतुल्लाह खावराजमी ने कहा कि ऐसी घटनाओं के लिए अफगानिस्तान को दोषी ठहराना, विषय की सच्चाई से ध्यान बांटने की विफल कोशिश है, हम इसका जोरदार खंडन करते हैं।खावराजमी ने कहा, ‘‘पाकिस्तानी सेना की कड़ी सुरक्षा वाले खैबर पख्तूनख्वा के एक क्षेत्र में चीनी नागरिकों की हत्या पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों की कमजोरी को दर्शाती है।

इसके अलावा उन्होंने कहा है कि अफगानिस्तान ने चीन को आश्वासन दिया है कि इस हमले में अफगान शामिल नहीं हैं। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल अहमद शरीफ ने कहा था कि तालिबान ने सत्ता में आने से पहले अंतरराष्ट्रीय समुदाय से जो वादा किया था कि किसी को भी किसी अन्य देश के खिलाफ अफगान सरजमीं का इस्तेमाल नहीं करने दिया जाएगा, उस वादे पर वो खरा नहीं उतर पाए हैं। खावराजमी के मुताबिक अफगानिस्तान के पास पाकिस्तान से ‘इस्लामिक स्टेट’ के सदस्यों के अफगानिस्तान आने के सबूत हैं और ‘पाकिस्तान की सरजमीं का हमारे खिलाफ इस्तेमाल किया जा रहा है, जिसके लिए पाकिस्तान को जवाब देना चाहिए।

 

यह भी पढ़ें : शरिया कानून लागू करने पर तुला अफगानिस्तान

You may also like

MERA DDDD DDD DD