world

दो करोड़ के एवज में बेजुबान पक्षियों की कुर्बानी दे रहे इमरान 

पाकिस्तान की इमरान सरकार अपने फायदे के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इमरान सरकार अब बेजुबान पक्षियों  की हत्या करवा रही हैं।

इसके पीछे की वजह है कतर के बाद बहरीन के राजा और पांच अन्य शाही परिवार के सदस्यों को 100-100 पक्षियों के शिकार की मंजूरी दे देना।

पाकिस्तान में संरक्षित पक्षी होऊबारा बस्टर्ड (सोन चिरैया) को लुप्तप्राय माना गया है। इसके शिकार पर  पाबंदी है, इसके बावजूद इमरान सरकार द्वारा शाही परिवार को शिकार की मंजूरी देने से लोगों में नाराजगी है। इमरान सरकार को इन बेजुबान मेहमान परिंदों के शिकार के एवज में करीब दो करोड़ रुपए मिलेंगे।

इसके विलुप्त होने के कारण इस प्रवासी पक्षी को ना केवल विभिन्न अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संधियों के तहत संरक्षित किया जाता है, बल्कि इसके शिकार पर स्थानीय वन्यजीव संरक्षण कानूनों के तहत भी प्रतिबंध है। पाकिस्तानियों को भी इस पक्षी के शिकार की अनुमति नहीं है।

ऐसा नहीं है कि पाकिस्तान में इस तरह की अनुमति पहली बार दी गई है। इससे पहले पाकिस्तान में पूर्ववर्ती सरकारें भी खाड़ी के अन्य देशों के शाही परिवारों को सोन चिरैया के शिकार की इजाजत देती चुकी  हैं।

डॉन’ ने अपनी एक खबर में सूत्रों के हवाले से बताया कि पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के  उप-प्रमुख प्रोटोकॉल मोहम्मद अदील परवेज ने 2019-20 में शिकार के लिए परमिट जारी किए हैं।
इम मुद्दे पर ध्यान देने वाली बात यह है कि इमरान खान जब विपक्ष में थे, तब उन्होंने इनके शिकार की मंजूरी देने को राष्ट्रीय शर्म करार दिया था। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने सिंध, बलूचिस्तान और पंजाब प्रांत की सरकारों को शाही मेहमानों की खिदमत के लिए विशेष दिशा-निर्देश और परमिट जारी किए हैं। राज्य सरकारों को कहा गया है कि शाही परिवार के सदस्यों को हर तरह की सुख-सुविधाएं मुहैया कराई जाएं।

You may also like