[gtranslate]
Country world

भारतीय होने पर गर्व  है मुझे : दलाई लामा

तिब्बत के धर्मगुरु दलाई लामा ने कहा है कि उन्हें इस बात पर गर्व है कि वे मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से भारत के बेटे है। उन्होंने कहा है कि
पचास साल से भी ज्यादा से ये शरीर भारत के दाल चावल पर चल रहा है। दलाई लामा  एक चैनल से हुई  खास बात चीत में ये बाते कही हैं। दलाई लामा ने आध्यात्म से जुड़े सवालों का जवाब दिया और कहा कि आध्यात्मिक रूप से भारत हमारा घर है और लोकतांत्रिक देश है। उन्होंने कहा कि मेरे दिमाग और दिमाग के हर कोने में भारत के विचार ही बसते है।

बौद्ध विचार भारतीय है। भारतीय ही परंपरा है। मेरा मानना  है कि 50 साल से भी अधिक समय से यह शरीर भारत के दाल चावल पर चल रहा है। इसलिए शारीरिक और मानसिक तौर पर मेरा यह विचार है में भारत का बेटा हूँ और मुझे हकीक़त में इस पर गर्व होता है। उन्होंने कहा कि नकारात्मक कर्म उससे या हिंसा की वजह बनते है। ऐसे में हमारे पास स्वयं को बदलने का मौका है। हमें जितना हो सके दया और क्षमा की गतिविधियों को बढ़ाना चाहिए। ये अच्छे कर्म नकारात्मक को दूर करते है।इसलिए नाकारत्मक क्रियाकलापों के कारण सृजित कर्म ज्यादा समय से परिणाम नहीं देते है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD