[gtranslate]
world

हैती राष्ट्रपति पर अवैध रूप से कार्याकाल बढ़ाने का आरोप, सड़क पर उतरे प्रदर्शकारी

हैती पुलिस ने बुधवार 10 फरवरी को हैती की राजधानी पोर्ट-ए-प्रिंस में राष्ट्रपति जुवेनाइल मोइज़ के खिलाफ मार्च कर रहे सैकड़ों प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस छोड़ी और देश के इस राजनीतिक संकट कवर करने वाले पत्रकारों पर हमला किया। प्रदर्शनकारियों ने मोइज़ पर अपने पद पर अवैध रूप से कार्यकाल बढ़ाने का आरोप लगाया। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने कहा कि राष्ट्रपति का कार्यकाल पिछले सप्ताह को समाप्त होना चाहिए, वहीं दूसरी तरफ सरकार का कहना है कि वह फरवरी 2022 तक सत्ता में बने रहेंगे।

प्रदर्शन में शामिल कार्यकर्ता सेनेट आंद्रे डूफ ने कहा, प्रदर्शनकारियों के साथ पुलिस के रवैये को देखकर लगता है कि उनका काम कार्यकर्ताओं को गोली मारना है। हम सभी ने देखा कि उन्होंने टीवी पैसिफिक कार के पिक-अप के पीछे एक आंसू गैस के कनस्तर को फेंका था, ”उन्होंने अपने हाथ में देश के संविधान की एक प्रति समेटते हुए एक मीडिया संस्थान से इसका जिक्र किया। एक बयान में, एसोसिएशन ऑफ हाईटियन जर्नलिस्ट्स में कहा गया कि हाईटियन नेशनल पुलिस अथॉरिटीज ने उन अपराधियों की पहचान करने के लिए बुलाया, जो उस समय गैर-कानूनी तरीकें से प्रदर्शन में दंगा फैलाने का कार्य कर रहे थे।

मोइज़ के निजी अधिकारियों ने रविवार 7 फरवरी को दावा किया कि प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे लोगों ने राष्ट्रपति की हत्या करने की कोशिश की थी, जिसे नाकाम कर दिया गया था। वे सरकार का तख्तापलट करने वाले थे। पुलिस ने हाईटियन सुप्रीम कोर्ट के जज याविकेल ड्युवाइसले डेबरसील सहित 23 लोगों को गिरफ्तार किया, उन पर तख्तापलट की कोशिश का आरोप लगाया।

प्रदर्शकारियों ने राष्ट्रपति के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कहा कि हम तानाशाही मोइज के खिलाफ आवाज उठाने के लिए वापस आ गए हैं। हैती के अमेरिकी राजदूत मिशेल जेने सेसन ने भी प्रदर्शकारियों के साथ “डाउन विद सिसन” चिल्लाया। वाशिंगटन ने अब तक मोइज़ के दावे का समर्थन किया है कि उसे इस वर्ष के राष्ट्रपति चुनावों के बाद फरवरी 2022 में पद छोड़ देना चाहिए।

विपक्ष लगातार मोइज़ की पार्टी पर सत्ता छोड़ने की मांग कर रहा है, उन पर एक सत्तावादी नेता की तरह काम करने और संविधान का उल्लंघन करने का आरोप लग रहा है। मोइज़ ने आरोप लगाया कि उनकी सरकार को उखाड़ फेंकने की कोशिश के बाद सप्ताहांत में तनाव बढ़ गया। अधिकारियों ने रविवार को सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश और एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सहित 23 लोगों को गिरफ्तार किया है।

इस पूरे मामले पर विपक्ष का कहना है कि साल 2015 के विवादों के बाद मोइज़ को 7 फरवरी को पद छोड़ना चाहिए था, उनका पांच साल का कार्यकाल समाप्त हो गया है। मोइज ने साल 2016 में नए चुनाव जीतने के बाद फरवरी 2017 में शुरू हुए एक कार्यकाल का हवाला देते हुए इसे खारिज कर दिया। उन्होंने अगले साल फरवरी में पद छोड़ने का वादा किया है।

10 फरवरी को पत्रकारों के एक समूह ने उनके प्रति पुलिस के घातक रवैये के बारे में सुरक्षा अधिकारियों से शिकायत की। विरोध प्रदर्शन को कवर करने वाले दो पत्रकारों को मामूली चोटें भी आईं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD