[gtranslate]
world

फ्रांस की सेना में बढ़ता मुस्लिमों के प्रति आक्रोश

फ्रांसीसी सेना में सेवारत सैनिकों के एक समूह ने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन को एक खुला पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने देश की सुरक्षा के बारे में चेतावनी दी है। वेलर्स एक्टुएलेस नामक एक पत्रिका में प्रकाशित पत्र के अनुसार, राष्ट्रपति मैक्रोन को बताया गया कि इस्लाम के लिए उनकी रियायतों के कारण आज फ्रांस खतरे में है। खुले पत्र में चेतावनी दी गई है कि हिंसा के कारण फ्रांस का पतन, इस्लाम और संस्थानों के लिए नफरत अनिवार्य रूप से गृहयुद्ध का कारण बनेगी और सेना को हस्तक्षेप करने के लिए मजबूर करेगी।

पत्र लिखने वाले कौन

इसी तरह का पत्र पिछले महीने उसी पत्रिका में प्रकाशित हुआ था। उसमें भी राष्ट्रपति को गृह युद्ध के बारे में चेतावनी दी गई थी। कुछ अधिकारी ऐसे थे जिन्होंने उस पत्र और 20 सेमी सेवानिवृत्त जनरलों को लिखा था। वर्तमान में यह स्पष्ट नहीं है कि हालिया पत्र लिखने वाले कौन हैं और सेना में किन पदों पर हैं। कौन हैं। पत्र में कहा गया है “हम आपके जनादेश को बढ़ाने या दूसरों पर जीत हासिल करने के विषय में बात नहीं कर रहे हैं। हम अपने देश के अस्तित्व के विषय में बात कर रहे हैं”।

इस पत्र को लिखने वालों ने खुद को सेना की युवा पीढ़ी का सैनिक कहा है। इसके अनुसार, उन्होंने इस्लामी कट्टरवाद को समाप्त करने के लिए अपना जीवन दिया है। लेकिन राष्ट्रपति ने उन्हें देश में फलने-फूलने दिया। पत्र में सैनिकों ने कहा कि वे 2015 में हमले के बाद हुए सुरक्षा अभियान का हिस्सा रहे हैं। इस बीच उन्होंने कुछ धार्मिक समुदायों को देखा और पाया गया कि फ्रांस उनके लिए मजाक या घृणा के अतिरिक्त कुछ नहीं था। पत्र में कहा गया है, “यदि गृह युद्ध हुआ तो सेना अपनी धरती पर व्यवस्था बनाए रखेगी”।

सार्वजनिक रूप से नहीं दिया पत्रों का उत्तर

गौरतलब है कि यह पत्र ऐसे समय में सामने आया हैं जब 2022 में फ्रांस में राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। इन चुनावों में मरीन ले पेन को मैक्रों के लिए एक बड़ी चुनौती समझा जा रहा है। ऐसे में मैंक्रो ने अभी तक सार्वजनिक रूप से इन पत्रों का उत्तर नहीं दिया है। परन्तु पिछली बार ले पेन ने प्रकाशित हुए पत्र के पश्चात अधिकारियों का समर्थन किया था। साथ ही साथ अपनी बात रखने के लिए सैनिकों की प्रशंसा भी की। इस पत्र से फ्रांस के प्रधानमंत्री काफी नाराज हो गए थे और उन्होंने इसे राजनीति में सेना का दखल करना बताया था।

फ्रांस में लॉकडाउन का अजीब विरोध, प्रधानमंत्री को दुकानदार भेज रहे लेडीज अंडरवियर !

You may also like

MERA DDDD DDD DD