[gtranslate]
world

वेटिकन बैंक के पूर्व सीईओ एंजेलो कैलोइया और उनके दो सहयोगियों को कोर्ट ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पाया दोषी

वेटिकन बैंक के पूर्व प्रमुख एंजेलो कैलोइया को मनी लॉन्ड्रिंग और गबन के लिए करीब नौ साल जेल की सजा सुनाई गई है। 81 साल के कैलोइया को गुरुवार आठ साल, 11 महीने की जेल की सजा दी गई है, अदालत ने उन्हें वित्तीय अपराध का दोषी ठहराया है। उनके वकील उनकी सजा को कम करने की अपील कर रहे हैं। कैलोइया वर्ष 1999 से 2002 तक धर्म निर्माण संस्थान के रूप में स्थापित वेटिकन बैंक के अध्यक्ष थे। वर्ष 2001 और 2008 के बीच इतालवी अचल संपत्ति के बीच हुई खरीद-फरोख्त में कैलोइया और दो वकीलों ने मिलकर इस डील में धन का गबन किया था। जितने पैसों में यह डील हुई थी, कैलोइया ने बिक्री की वास्तविक राशि से कम की घोषणा की थी।

फोटो साभार सीएनएन: एंजेलो कैलोइया

कोर्ट ने इस मामले में दो वकीलों को भी आरोपी पाया है। 97 साल के गैब्रिएल लियुज़ो को वहीं सजा दी जो कैलोइया को दी गई है। वहीं दूसरी तरफ लियुजो के बेटे डेम्बेल्डो लियुजो जिनकी आयु 55 साल की है उन्हें इस मामले में पांच साल दो महीने की सजा सुनाई गई है। वेटिकन की एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, तीनों को जुर्माना भी देना होगा और हर प्रकार से सार्वजनिक पद से प्रतिबंधित कर दिया गया है। तीनों ने 2018 में शुरू हुए ट्रायल के दौरान अपने ऊपर लगे आरोपों को मानने से इनकार कर दिया था।

क्या है पूरा मामला?

वेटिकन बैंक लंबे समय से वित्तीय घोटालों से ग्रस्त है। सितंबर 2020 में वेटिकन के शक्तिशाली कार्डिनलों में से एक जियोवानी एंजेलो बेस्कियू ने वित्तीय घोटाले के बीच अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उसी समय बेस्कियू ने कहा था कि उन पर गबन का आरोप लगाया जा रहा है। एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान उन्होंने खुद को बेगुनाह कहा था। वर्ष 2013 में पोप फ्रांसिस ने इस समस्या से निपटने के लिए आर्थिक और प्रशासनिक ढांचों में सुधारों की सिफारिश करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति का भी गठन किया था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD