world

भारत में मालदीव के पूर्व उपराष्ट्रपति अहमद अदीब को किया गया गिरफ्तार

मालदीव में पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन की हत्या की कथित साजिश को लेकर पूर्व उपराष्ट्रपति अहमद अदीब को गिरफ्तार किया गया है। मालदीव पुलिस ने अहमद अदीब को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वे तमिल नाडू के ट्वीटीटोरिन पॉइंट को गैर क़ानूनी तरीक़े से पार कर रहे थे।

पुलिस रिपोर्ट के अनुसार अहमद अदीबए वर्गो 9 टग नामक बोट में क्रू मेंबर बन कर चढ़े थे और बहुत ही शातिर तरीके से वह उस कारनामे को अंजाम देना चाह रहे थे। लेकिन उसी वक्त मालदीव पुलिस ने अहमद अदीब को धर दबोचा। मालदीव के गृहमंत्री उमर नसीर ने ट्विटर पर कहाए पूर्व उपराष्ट्रपति को गिरफ्तार किया गया है और धूनीधू डिटेंशन कारागार में रखा गया है। इन पर घोर राष्ट्रद्रोह का आरोप हैए अहमद अदीब को यहां के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उस वक्त गिरफ्तार किया गया जब वह सिंगापुर से स्वदेश लौट रहे थे।

मालदीव पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि बीते 28 सितंबर 2018 को मशीनी नौका पर हमले के संदर्भ में अदीब को पकड़ा गया है जिस पर पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन मौजूद थे। मालदीव पुलिस ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर कहाए पूर्व उपराष्ट्रपति अहमद आदीब को अदालती वारंट के तहत जांच के लिए गिरफ्तार किया गया है।

अहमद अदीब से पहले उपराष्ट्रपति रहे मोहम्मद जमील पर भी राष्ट्रद्रोह के आरोपों को लेकर महाभियोग चलाया गया था। अहमद अदीब करीब 33 वर्ष के हैं और इसके पहले भी भ्रष्टाचार के मामले में पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर चुकी है। अभी हाल ही में 9 जून 2019 को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मालदीव का दौरा किया था और भारत ने उनसे वादा भी किया था कि वहां पर जुमा मस्जिद और स्टेडियम का निर्माण भारत कराएगा। मालदीव ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विदेशी शख्सियतों को दिए जाने वाले सर्वोच्च सम्मान श्रूल ऑफ निशान इज्जुदीनश् से सम्मानित किया। जिस पर नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि मालदीव ने आज मुझे अपने देश का सर्वोच्च सम्मान दिया है और मैंने विनम्रता से स्वीकार ही नहीं किया। ये सिर्फ मेरा सम्मान नहीं हैं बल्कि दोनों देशों की दोस्ती का सम्मान है।

भारत और मालदीव के रिश्ते हमेशा से मजबूत रहे हैं पर मालदीव में पिछले वर्ष से चल रहे इस आंतरिक मुसीबत की घड़ी में भारत का क्या रवैया रहेगा यह देखने वाली बात होगी। क्योंकि मालदीव पिछले साल 2018 से लगातार अपने आंतरिक मामलों से जूझ रहा है कभी यहाँ के उपराष्ट्रपति भ्रष्टाचार के आरोप में पकड़े जा रहे हैं तो कभी राष्ट्रपति पर भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं।याद दिला दें कि मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति यामीन द्वारा 2018 के सितंबर माह में ब्रिटिश कालीन मूर्तियों को अपमानजनक बताए जाने के बाद पुलिस ने कुल्हाड़ी और अन्य उपकरणों की मदद से उन्हें तोड़ दिया थाएजिसके बाद वहां के कुछ नागरिकों में उनके खिलाफ रोष था।

You may also like