[gtranslate]
world

उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बावजूद, बातचीत को तैयार अमेरिका

उत्तर कोरिया ने हाल ही में कम दूरी वाली दो मिसाइलों का परीक्षण किया है। हालांकि इसके बावजूद अमेरिका बातचीत करने को तैयार है। उत्तर कोरिया द्वारा किए गए मिसाइल परीक्षण को अमेरिका के लिए चेतावनी के तौर पर देखा जा रहा है। उत्तर कोरिया ने पहली बार जो बाइडन के राष्ट्रपति बनने के बाद किसी मिसाइल परीक्षण किया है।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने पिछले दिनों वार्ता के प्रस्ताव को नकार दिया था। उसके द्वारा कहा गया था कि बातचीत तब तक सम्भव नहीं है जबतक अमेरिका उसके प्रति विरोधी नीतियां को नहीं रोकता। अब तक विभिन्न माध्यमों के जरिए अमेरिका संपर्क साध चुका है लेकिन एक भी बार सफल नहीं हो पाया  है।

23 मार्च, मंगलवार को बाइडन प्रशासन के दो वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि उत्तर कोरिया ने उन मिसाइलों का परीक्षण किया है, जिनपर यूएन सुरक्षा परिषद का प्रतिबंध लागू नहीं है। उत्तर कोरिया के पश्चिमी तट से दो क्रूज मिसाइलें दागी गईं। ओहियो की यात्रा से लौटते हुए बिडेन से पत्रकारों ने सवाल किया कि क्या उत्तर कोरिया ने मिसाइल परीक्षण कर अमेरिका को चुनौती दी है? इस बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि बहुत कुछ नहीं बदला है। उत्तर कोरिया ने जो किया वह नया नहीं है। अमेरिका-दक्षिण कोरिया के सैन्य अभ्यास से उत्तर कोरिया बौखला उठा है और वह लगातार वाशिंगटन को चेतावनी दे रहा है।

ऑस्ट्रेलिया: संसद से अश्लील वीडियो लीक, सवालों के घेरे में सरकार 

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि उत्तर कोरिया को लेकर बाइडन प्रशासन की नीति की पूर्ण समीक्षा अंतिम चरण में है। इस पर वह अगले सप्ताह सहयोगी देशों जापान और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के साथ चर्चा करने वाला है। एक अधिकारी ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच फरवरी 2019 में हनोई में शिखर सम्मेलन के बाद उत्तर कोरिया के साथ ‘बहुत कम बातचीत’ हुई है। इस दौरान अमेरिका ने दक्षिण कोरिया को अपने परमाणु हथियारों को छोड़ने के लिए मनाने की कोशिश की थी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD