[gtranslate]
world

Covid-19: चीन ने हटाई वुहान लैब से जुड़ी तस्वीरें और अहम जानकारी

Covid-19: चीन ने हटाई वुहान लैब से जुड़ी तस्वीरें और अहम जानकारी

कोरोना वायरस को लेकर चीन पर लगातार आरोप लगते आए हैं। चीन पर उन्हीं आरोपों में से एक वुहान की लैब में वायरस को बनाने का संगीन आरोप भी है। कई दावे किए गए हैं जिनमें एक ये है कि वुहान लैब से ही कोरोना वायरस चीन में फैला और फिर पूरी दुनिया में कहर बरपाना शुरू किया।

हालांकि, चीन इन सभी आरोपों से इनकार करता आया है। चीन अपने आप को बचाने के लिए हमेशा नई थ्योरी सामने लाता रहा है। इसलिए अमेरिका चीन के खिलाफ कड़ी जांच में जुटा हुआ है। चीन को दुनिया भर में कोरोना को लेकर निंदा का सामना करना पड़ रहा है।

अमेरिका ने तो वुहान की लैब की जांच में पूरी ताकत झोंक दी है। जिससे घबराया चीन अब सबूतों को मिटाने में लग गया है। सबसे पहले चीन ने इस वुहान स्थित लैब की वेबसाइट से कुछ अहम जानकारियों और फोटो को डिलीट किया हैं। चीन की इस वुहान लैब से कोरोना के फैलने का दावा दुनियाभर के कई देश कर रहे हैं।

वुहान लैब की ‘सीक्रेट तस्वीरें’ डिलीट

चीन की ओर से वुहान लैब में चीन के वैज्ञानिकों की बिना किसी सुरक्षा उपकरण के काम करने वाली तस्वीर को वेबसाइट से हटा दिया गया है। वुहान इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी ने जिन तस्वीरों को हटाया है। उनमें से कुछ तस्वीरों में वुहान इंस्टीट्यूट का स्टाफ बिना किसी सुरक्षा किट के गुफाओं में जाकर चमगादड़ों को पकड़ता नजर आ रहा है। इस तस्वीर में स्टॉफ के पास मास्क और ग्लब्स भी उपलब्ध नही है। चीन की ओर से वुहान इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी की उस तस्वीर को भी हटा दिया है, जिसमें कोरोना जैसे 1500 घातक वायरस को स्टोर करने वाले फ्रिज को दिखाया गया था।

अमेरिकी वैज्ञानिक दौरे की जानकारी हटाई

चीन की ओर से साथ ही अमेरिकी वैज्ञानिकों के दौरे से जुड़ी जानकारियों को भी हटा दिया गया है। गौरतलब है कि साल 2018 मार्च में अमेरिकी दूतावास के वैज्ञानिक रिक स्विटजर ने इस लैब में विजिट किया था। इस दौरे के बाद स्विटजर की ओर से अमेरिका के विदेश व‍िभाग को चेतावनी भरा संदेश भी भेजा गया था। संदेश में स्पष्ट किया गया था कि इस लैब में प्रशिक्षित लोगों की भारी कमी देखी गई।

इससे पता चलता है कि चीन को अमेरिका की ओर से बहुत पहले ही चेता दिया गया था कि लैब में कुछ भी हो सकता है। तस्वीरों और जानकारियों का चीन की ओर से मिटाया जाना अब दुनियाभर में उसे शक के घेरे में ले आया है। अमेरिका का आरोप है कि कोरोना वायरस चीन की इसी लैब से लीक हुआ है। चीन की इस करतूत से इस दावे को और भी मजबूती मिलती दिख रही है।

You may also like