[gtranslate]
world

रूस में बड़े पैमाने पर बनेगी कोरोना वैक्सीन 

दुनियाभर में कोरोना संक्रमण अब और भी तेजी से बढ़ रहा है। जिसे रोक पाना अभी तक कहीं से संभव  नहीं दिखाई दे रहा है। इसे रोकने के लिए दुनियाभर में अध्यन चल रहा है। इस बीच  एक अच्छी खबर आ रही है कि  रूस अगले महीने से कोरोना वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन करने जा रहा है। दुनियाभर में कोरोना वैक्सीन को लेकर ट्रायल जारी हैं। रूस ने कहा कि उसका लक्ष्य अगले महीने से कोरोना वायरस वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू करना और अगले साल तक प्रति माह ‘कई मिलियन’ डोज तैयार करना है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार तीन अगस्त को चेताया था कि कोरोना  की कारगर  दवा कभी संभव नहीं है। उसने कहा कि हालात सामान्य होने में अभी वक्त लगेगा। कई देशों को इस पर अपनी रणनीति दोबारा बनानी चाहिए। संगठन ने वैक्सीन की प्रबल उम्मीद के बावजूद कोरोना वायरस की दवा को लेकर कहा कि दुनियाभर में हालात सामान्य होने में लंबा वक्त लगेगा। वहीं, डब्ल्यूएचओ के निदेशक टेड्रोस अदनोम घेबरेसस ने जेनेवा स्थित मुख्यालय से एक वर्चुअल ब्रीफिंग में कहा कि सरकारों और लोगों के लिए यह साफ संदेश है कि बचाव के लिए सब कुछ करें। दुनियाभर में इस महामारी से मुकाबले में फेस मास्क एकजुटता का प्रतीक बनना चाहिए।

संयुक्त राष्ट्र की इस स्वास्थ्य संस्था के प्रमुख ने कहा कि कई वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के तीसरे चरण में हैं। फिलहाल कोई अचूक दवा नहीं है और संभवत: ऐसा कभी हो भी नहीं सकता। इस मौके पर टेड्रोस और डब्ल्यूएचओ के आपात मामलों के प्रमुख माइक रियान ने सभी दुनिया के देशों से कोरोना की रोकथाम के लिए मास्क, शारीरिक दूरी, हैंड-वाशिंग और टेस्टिंग जैसे उपायों को सख्ती के साथ लागू करने की अपील की।

देश में कई कोरोना वैक्सीन के ट्रायल तेजी से आगे बढ़ रहे हैं और रूस की राजधानी मॉस्को में गमालेया संस्थान का ट्रायल एडवांस स्टेज  तक पहुंच गया है और यह जल्द ही राज्य  रजिस्ट्रेशन  की प्रक्रिया पूरी कर लेगा।

एक न्यूज  एजेंसी टीएएसएस को दिए एक साक्षात्कार में रूस के उद्योग मंत्री डेनिस मंटुरोव ने कहा कि हम सितंबर से बड़े पैमाने पर वैक्सीन का उत्पादन शुरू करने की उम्मीद  लगाए हुए हैं।

उन्होंने कहा, ‘हम अगले साल की शुरुआत तक बड़े पैमाने पर कोरोना वैक्सीन तैयार करने में में सक्षम होंगे। अगले साल की शुरुआत तक हम इसमें कई मिलियन की वृद्धि करने की स्थिति में होंगे। उन्होंने कहा कि एक डेवलपर सेंट्रल रूस के तीन लोकेशन पर इसके उत्पादन तकनीक की तैयारी कर रहा है।

इस वैक्सीन को फाइनेंस करने वाली कंपनी रूसी डायरेक्ट  इंवेस्टमेंट  फंड के प्रमुख  किरिल दिमित्रिग ने कहा कि हमें उम्मीद है कि कोविड-19 वैक्सीन का आधिकारिक पंजीकरण दस दिनों के भीतर पूरा हो जाएगा।

उन्होंने कहा, अगर अगले दस दिन में यह होता है तो हम न सिर्फ अमेरिका से आगे हो जाएंगे, बल्कि कई अन्य देशों से भी। यह दुनिया की पहली रजिस्टर्ड कोरोना वायरस वैक्सीन होगी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD