[gtranslate]
world

अफगानिस्तान में अब गर्भनिरोधक दवाओं पर लगा प्रतिबंध

अफगानिस्तान में जब से तालिबान राज आया है तब से अफगानी महिलाओं पर तरह -तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। इस बीच उसने गर्भनिरोधक दवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिससे महिलाओं को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ब्रिटिश अखबार ‘द गार्डियन’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ दुकानदारों समेत महिलाओं को चेतावनी दी गई है कि गर्भनिरोधक जैसी किसी भी सामग्री को न तो बेचा जाए और न ही इसका इस्तेमाल किया जाए। रिपोर्ट के अनुसार अफगानिस्तान में महिलाओं को प्रेग्नेंसी रोकने के लिए डोर टू डोर जाकर धमकाया जा रहा है कि वो गर्भनिरोधक जैसी चीजों का इस्तेमाल न करें। अफगानी महिलाओं पर प्रतिबंधों का आलम यह है कि महिलाओं को जिम तक जाने पर भी रोक लगा दी गई है। इसके अलावा अफगान में खेल और शिक्षा को महिलाओं के लिए वर्जित कर दिया गया है।

महिलाओं और दुकानदारों को दी जा रही है धमकियां

 

ब्रिटिश अख़बार ‘द गार्डियन’ के अलावा ‘द डेली मेल ऑनलाइन’ की रिपोर्ट में भी एक मेडिकल स्टोर चलाने वाले का कहना है कि गर्भनिरोधक प्रतिबंध फिलहाल, दो प्रांतों में लगाया गया है। दुकानदार का कहना है कि कुछ तालिबानी उसके स्टोर पर आए थे। जिन्होंने उन्हें बंदूक दिखाकर धमकी दी। उन्होंने कहा- स्टोर में गर्भ निरोधक गोलियां या इससे संबंधित दूसरे सामान मत रखना। दुकानदार के मुताबिक काबुल में हर मेडिकल स्टोर को चेक किया जा रहा है। इसके अलावा तालिबानियों द्वारा काबुल और मजार-ए-शरीफ में नोटिस लगाए गए हैं कि कोई भी मेडिकल शॉप गर्भ निरोधक न रखे। नोटिस सूची में कॉन्ट्रसेप्टिव पिल्स और डेपो प्रोवेरा जैसे इंजेक्शन्स भी शामिल हैं। वहीं एक महिला के मुताबिक तालिबान का कहना है कि गर्भ निरोधक इस्तेमाल के लिए अगर किसी महिला ने किसी दूसरी महिला को भड़काया तो अंजाम अच्छा नहीं होगा। गौरतलब है कि अफगानिस्तान दुनिया के उन देशों में पहले नंबर पर है जहां एक महिला के लिए बच्चे को जन्म देना सबसे खतरनाक माना जाता है। रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान में हेल्थ केयर सिस्टम सिर्फ नाम के लिए है। यहां 14 में से एक महिला की मौत प्रेग्नेंसी रिलेटेड इश्यू की वजह से हो जाती है।

पश्चिमी देशों की साजिश

 

दूसरी तरफ तालिबानियों के अनुसार ये पश्चिम देशों की साजिश जो मुश्लिमों की आबादी नहीं बढ़ने देना चाहते। तालिबानी हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा है कि मेडिकल स्टोर्स का रेग्युलर इन्स्पेक्शन होता है। ब्रिटिश मीडिया की खबरें गलत हैं। हमने गर्भनिरोधक की बिक्री पर रोक नहीं लगाई। महिलाओं की सेहत के लिए कई बार गर्भ निरोधक जरूरी होते हैं। शरिया में भी कहा गया है कि अगर महिला की जान को खतरा हो तो इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसलिए इन गर्भनिरोधक को पूरी तरह बैन करना सही नहीं है।

 

यह भी पढ़ें : हजारों अफगान प्रवासियों को ईरान ने किया निष्कासित

You may also like

MERA DDDD DDD DD