[gtranslate]
world

चीन की इस अभिनेत्री पर अपने दो बच्चों को छोड़ने का लगा आरोप

चीन की एक प्रसिद्ध अभिनेत्री झेंग शुआंग  पर यह आरोप लगा है कि उन्होंने अपने और अपने बॉयफ्रेंड झांग से सैरोगेसी की मदद से हुए दो बच्चों को स्वीकार करने से मना कर दिया है।जो अमेरिका में वर्ष 2019 और 2020 में जन्में हैं।

एक चीनी मीडिया आउटलेट ने बच्चों के जन्म प्रमाण पत्र की कथित तस्वीरों को भी प्रचारित किया, जिससे पता चला कि वे बच्चे दिसंबर 2019 और जनवरी 2020 में अमेरिका में पैदा हुए थे। उन कागजातों में झांग और झेंग को उनके माता-पिता के रूप में नामित किया गया था।
चीनी मीडिया ने एक कथित फोन कॉल की रिकॉर्डिंग भी प्रकाशित की, जिसमें झेंग के माता-पिता ने कथित तौर पर बच्चों को छोड़ने या किसी को गोद दे देने की बात कही है।

सैरोगेसी चीन के बाजार का एक बड़ा हिस्सा

झेंग ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि हमें दुःख है कि जब हमने गर्भपात कराने का निर्णय लिया तब यह संभव नहीं था क्योंकि माताओं को सात माह का गर्भ था। इन आरोपों ने चीन में कई लोगों को चौंका दिया, जहां आमतौर पर पारिवारिक संबंधों को क़ीमती माना जाता है वहां अब इसे लेकर सोशल मीडिया पर नाराजगी जताई जाती है। इस मामले ने एक ऐसे देश में सरोगेसी के बारे में बहस छेड़ दी है जो आधिकारिक तौर पर इस प्रथा का विरोध करता है। लेकिन चीन में इसके बावजूद सैरोगेसी चीन के बाजार का एक बड़ा हिस्सा भी है।

 

 

दरअसल अभिनेत्री  झांग और फिल्म प्रोड्यूसर झांग का यह मामला पब्लिक में तब आया जब  झेंग ने एक सोशल मीडिया साइट पर यह पोस्ट लिखा कि  मुझे दो मासूम जानों की देखभाल करने के लिए अमेरिका जाना पड़ता है। हालाँकि इसके थोड़ी देर बाद सोशल मीडिया प्लेटफार्म ‘वीबो’ पर से झांग ने यह पोस्ट डिलीट कर दी थी। लेकिन तबतक इसे तीन बिलियन से अधिक लोगों ने पढ़ लिया था। इसके बाद से ही इस दम्पति की सोशल मीडिया पर खूब आलोचना होने लगी। चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) एजेंसियों द्वारा भी इसकी निंदा की गई।

राज्य के ब्रॉडकास्टर सीसीटीवी ने एक टिप्पणी में कहा, “हमारे देश में सरोगेसी पर स्पष्ट रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है और किसी के जीवन के साथ खिलवाड़ करना एक क्रूरता है।”

सोशल मीडिया पर होने लगी खूब आलोचना

कानूनी मामलों की देखरेख करने वाले CCP के शीर्ष आयोग ने झेंग पर अमेरिका में सरोगेट मां की मांग करके “कानूनी खामियों का फायदा उठाने” का आरोप लगाया है। आयोग ने लिखा, “चीन में सरोगेसी पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है क्योंकि यह महिलाओं के गर्भाशय को एक उपकरण के रूप में उपयोग करता है और जीवन को एक वाणिज्यिक उत्पाद के रूप में बेचता है।”

 

इस पूरे प्रकरण के बाद से ही दोनों को कई उत्पादों द्वारा ड्राप कर दिया गया जिसके वे ब्रांड अम्बेसडर थे। लक्जरी फैशन लेबल प्राडा सहित कई अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों द्वारा झेंग को ड्राप कर दिया। इन पर प्रतिक्रिया करते हुए, झेंग ने ‘वीबो’ पर 19 जनवरी को लिखा कि “यह मेरे लिए बहुत दुखद और निजी मामला है।” उन्होंने आगे कहा है कि हमने किसी भी प्रकार से इस मामले में चीन के क़ानूनी निर्देशों का उल्लंघन नहीं किया है। 

हालाँकि सैरोगेसी को लेकर और इसके नैतिक मुद्दों पर बहस दुनिया भर में हुई है, जिसमें विरोधियों ने चेतावनी दी है कि इस प्रथा से महिलाओं का शोषण और तस्करी, महिला शरीर और बच्चों के साथ छेड़छाड़, और अमीर और गरीबों के बीच असमानता और गहरी हो सकती है। यह तो तय है कि इस मामले ने सैरोगेसी को लेकर विश्व स्तर की एक नई बहस शुरू कर दी है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD