world

अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर में बढ़ा तनाव

चीन और अमेरिका के बीच व्यापारिक रिश्तों में तनाव और बढ़ गया है। दोनों देशों के बीच वाशिंगटन में कारोबारी रिश्ते सुधारने के लिए होने वाली बैठक से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि चीन ने अमेरिका के साथ व्यापार समझौता रद्द कर दिया है। हालांकि, गुरुवार को फिर उन्होंने कहा कि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से उन्हें एक पत्र के जरिये चेतावनी दी है कि अगर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 200 अरब डॉलर के सामान के आयात पर शुल्क बढ़ाते हैं तो वह जवाबी कार्रवाई करेंगे। शुल्क में बढ़ोतरी शुक्रवार से लागू होनी वाली है।


अमेरिका और चीन के प्रतिनिधियों की व्यापारिक  बातचीत के आखिरी दौर के लिए गुरुवार को वाशिंगटन में मुलाकात हो रही है जिसमें अमेरिका की ओर से चीन के उत्पादों पर भारी आयात शुल्क लगाए जाने को लेकर चर्चा होगी तथा इस शुल्क को कम किये जाने पर बातचीत  होने की भी संभावना है।

रविवार को किये गए सीमा शुल्क के जारी आंकड़ों के अनुसार चीन में अमेरिकी उत्पादों का आयात माह के अंत में 22.5 प्रतिशत से घटकर 10.3 अरब डॉलर रह गया है। चीन ने अपनी शुल्क दरें बढ़ा दी हैं और अमेरिका की कंपनियों का आर्डर रद्द करने को भी कहा है जिससे अमेरिका का आयात कम हो जायेगा है।
चीन ने अपने निर्यातकों से अमेरिका के स्थान पर अन्य बाजारों में विकल्प तलाशने को कहा है। लेकिन कमजोर ग्लोबल मांग की वजह से उन्हें इसमें दिक्कतें आ रही हैं। अगस्त में चीन का ग्लोबल निर्यात तीन प्रतिशत घटकर 214.8 अरब डॉलर रह गया है। जुलाई में चीन का ग्लोबल निर्यात 12.2 प्रतिशत बढ़ा था। अमेरिका और चीन के सलहकारों ने अक्टूबर में बातचीत करने की तैयारी कर रहे हैं। दोनों पक्षों ने अभी तक इस गतिरोध को समाप्त करने के लिए किसी तरह की रियायत देने का संकेत नहीं दिया है।

You may also like