[gtranslate]
world

‘लेंड लीज’ एक्ट से पुतिन को हराएगा अमेरिका !

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच अमेरिका 80 साल पुराने नियम को फिर से लागू करने जा रहा है। इस नियम के लागू होते ही यह युद्ध लंबा खिंच सकता है। क्योंकि इससे यूक्रेन को रूस के खिलाफ लड़ने के लिए और ताकत मिलेगी। और हथियार मिलेंगे। अमेरिका से हथियार सीधे यूक्रेन की राजधानी कीव में उतरेंगे। वो भी कम कीमत में।

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, अमेरिका ने ग्रेट ब्रिटेन और अन्य सहयोगियों की मदद के लिए लेंड-लीज कानून बनाया। यानी जर्मनी के खिलाफ लड़ने वाले देश अमेरिकी हथियारों को किराए पर या पट्टे पर दे सकते हैं। अब अमेरिका ने प्रतिनिधि सभा में यूक्रेन डेमोक्रेसी डिफेंस लेंड-लीज एक्ट 2022 पारित किया है।

अब यह बिल अंतिम मुहर के लिए राष्ट्रपति जो बाइडेन के पास जाने वाला है। सीनेट में भी बिल को पूरा समर्थन मिला। इस विधेयक के पारित होने से न केवल यूक्रेन को लाभ होगा, बल्कि रूस के हमलों से नुकसान झेल रहे पोलैंड और अन्य पूर्वी यूरोपीय देशों को भी लाभ होगा। युद्ध शुरू हुए दो महीने से अधिक समय हो गया है। लेकिन यह खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। उम्मीद है कि इस बिल की वजह से रूस समझ जाएगा कि वह यूक्रेन को तबाह नहीं कर पाएगा। उसे युद्ध रोकना होगा।

अल जज़ीरा में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस का कहना है कि 8 दशक पुराने इस नियम के दोबारा लागू होने से अमेरिकी कंपनियां बिना किसी नौकरशाही रुकावट के आपूर्ति कर सकेंगी । डेमोक्रेट प्रतिनिधि मैरी गे स्कैनलोन ने कहा कि यूक्रेन के लोग इस समय अग्रिम पंक्ति में खड़े हैं। ताकि वे अपना लोकतंत्र बचा सकें।  अमेरिका मानवाधिकारों और सैन्य मदद के लिए हमेशा तैयार रहा है। वह यूक्रेन की मदद के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

मैरी गे स्कैनलोन ने कहा कि लेंड-लीज कानून के कारण अमेरिका सीधे कीव को उपकरण पहुंचा सकेगा। जिसके लिए यूक्रेन को बहुत ही कम रकम चुकानी होगी। दूसरी ओर, रिपब्लिकन सीनेटर जॉन कॉर्निन ने कहा कि यूक्रेन के लोगों ने रूस का सामना बेहद बहादुरी से किया है। उन्होंने अदभुत साहस का परिचय दिया है। हम उनके लोकतंत्र को बचाने के लिए उन्हें हर संभव मदद देंगे। ताकि वे अपनी संप्रभुता को बचा सकें।

2.52 लाख करोड़ की मदद की घोषणा

हाल ही में जो बाइडेन की सरकार ने यूक्रेन की सरकार को 33 अरब डॉलर यानी 2.52 लाख करोड़ रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है। जिसमें से 20 अरब डॉलर यानी 1.52 लाख करोड़ रुपये से अधिक हथियार, गोला-बारूद और अन्य सैन्य सहायता के लिए है। इसके अलावा शेष राशि में मानवीय और प्रत्यक्ष आर्थिक सहायता शामिल है। जो बाइडेन ने गुरुवार को व्हाइट हाउस में कहा कि हमें लेंड-लीज बिल की जरूरत है ताकि हम यूक्रेन को उसकी आजादी के लिए लड़ने में मदद कर सकें। इस जंग की कीमत कम नहीं होगी। इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

यह भी पढ़ें : मस्क के पिंजरे में कैद हुई, ट्विटर की चिड़िया

You may also like

MERA DDDD DDD DD