[gtranslate]
world

थाइलैंड : महा वाचिरालोंगकोंन ने 3 महीने में ही शाही सहयोगी सिनीनात को पद से हटाया

थाईलैंड के राजा महा वाचिरालोंगकोंन ने अपनी आधिकारिक सहयोगी के  शाही पदनाम वापस ले लिए हैं। दरअसल ,थाइलैंड के राजा वाजिरालोंगकोर्न ने 34 साल की अपनी खास शाही सहयोगी सिनीनात (रॉयल कॉन्सर्ट) को गद्दारी और कथित महत्वाकांक्षा के कारण पद से हटा दिया है। सोमवार 21 अक्टूबर  को शाही घराने की ओर से जारी संदेश में कहा गया कि रानी के जैसे हक हासिल करने की महत्वाकांक्षा के कारण 3 महीने से भी कम समय में सिनीनात को सभी पद और शक्तियों से बर्खास्त किया गया है।
 34 साल की सिनीनात को राजा ने दिया था शाही दर्जा
राजा के 67वें जन्मदिन पर 28 जुलाई को सिनीनात वोंग वचिरापाक को राजा ने रॉयल बॉडीगार्ड का दर्जा दिया था। सिनीनात आम लोगों के बीच ‘कोई’ के नाम से काफी लोकप्रिय हैं। थाइलैंड के शाही घराने की लगभग 100 साल पुरानी परंपरा में यह पहली बार हुआ कि किसी महिला को यह खास पद दिया गया है। कुछ दिन पहले ही शाही महल के द्वारा सिनीनात की कुछ युद्ध उपकरणों को चलाने, फाइटर जेट उड़ाने और राजा के हाथ थामकर चलने की तस्वीरें वायरल हुई थीं।
 सिनीनात की शाही जिंदगी 3 महीने में ही हुई ख़त्म
मवार को इस घटना के 3 महीने बाद ही सिनीनात को इस तरह से शाही घराने से बाहर का रास्ता दिखाने की खबरें मीडिया में छाई रहीं। शाही घराने की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘राजा के प्रति वफादारी नहीं निभाने और रानी सुथिदा की नियुक्ति के खिलाफ अपनी महत्वाकांक्षाओं के लिए षड्यंत्र के कारण उन्हें पद से बर्खास्त किया जाता है।’ सिनीनात को चाओ खुन फरा या रानी का दर्जा प्राप्त पद दिया गया था।
शाही संदेश में सिनीनात की आलोचना
शाही घराने की ओर से जारी संदेश में स्पष्ट तौर पर सिनीनात के लिए बहुत कठोर शब्दों का चयन किया गया। संदेश में कहा गया, ‘उन्होंने राजा के प्रति कोई सम्मान नहीं दिखाया और स्पष्ट है कि उन्हें शाही परंपराओं का कोई ज्ञान नहीं है… उनकी हरकतें निजी फायदे के लिए थीं।’ उनके व्यवहार को अपमानजनक बताते हुए संदेश में कहा गया, ‘वह लगातार खुद को रानी सुथिदा के बराबर खड़ा करने की कोशिश कर रही थीं। उनका व्यवहार सर्वोच्च सम्मान के अधिकारी के खिलाफ अपमानजनक था और इस वजह से आम लोगों के बीच में असमंजस का माहौल बन गया।’
 सिनीनात ट्रेंड पायलट, किंग के बॉडीगार्ड यूनिट में थीं

34 साल की सिनीनात ने रॉयल थाइ आर्मी से ग्रैजुएट थीं और 23 साल की उम्र में उन्होंने डिग्री ली। बतौर पायलट उन्होंने थाइलैंड और विदेशों में भी ट्रेनिंग ली थी। उन्होंने किंग के बॉडीगार्ड यूनिट में भी सेवाएं दी और मई में उन्हें शाही दर्जा दिया गया था।सिनीनात मेजर जनरल रह चुकी हैं। वो एक प्रशिक्षित पायलट और नर्स हैं। वो बॉडीगार्ड भी रही हैं।  बीती करीब एक शताब्दी के दौरान ‘रॉयल नोबल कन्सॉर्ट’ का पदनाम हासिल करने वाली वो पहली शख्सियत थी। राजा की सुतिदा से शादी के बाद भी सिनीनात शाही कार्यक्रमों की नियमित मेहमान रहती थीं।

थाईलैंड के राजा की पत्निया

थाईलैंड के राजा महा वाचिरालोंगकोन ने चार शादियां की हैं। उनकी चार पत्नियां राजकुमारी तोम्सवली ,युवाधिदा ,सीरात और रानी सुतिदा हैं।सिनीनात को हटाए जाने की सही वजह शायद कभी सार्वजनिक न की जाये। इसकी वजह ये है कि थाईलैंड में राजमहल से जुड़ी बातों को रहस्य के पर्दों में रखा जाता है। थाईलैंड के क़ानून के मुताबिक सम्राट के किसी भी तरह के अपमान पर रोक है। इस मामले में थाईलैंड का क़ानून दुनिया में सबसे कड़े क़ानूनों में गिना जाता है।

यह भी पढ़े : थाईलैंड में पाबुक तूफान की दस्तक, 80 हजार लोगों को द्वीप से निकालने की कोशिशें जारी

सिनीनात को हटाए जाने का मामला राजा की दो पूर्व पत्नियों से मेल खाता हैं। साल 1996 में उन्होंने अपनी दूसरी पत्नी पर आरोप लगाया था और उनके साथ हुए अपने चार बेटों को अपनाने से इनकार कर दिया था। राजा की दूसरी पत्नी भागकर अमरीका चली गईं थी। साल 2014 में इसी तरह उन्होंने अपनी तीसरी पत्नी के पदनाम वापस ले लिए थे।

You may also like