[gtranslate]
world

अमेरिका में कोरोना से 2 लाख 40 हजार मौत का अंदेशा, 30 दिन के लिए बढ़ाई गाइडलाइन्स

ट्रम्प 20 अगस्त को व्हाइट हाउस में करेंगे इराक के प्रधानमंत्री की मेजबानी

दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका इस वक्त कोरोना वायरस का कहर झेल रहा है। सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव लोग अमेरिका में ही पाए गए हैं। साथ ही इससे मरने वालों का आंकड़ा भी हैरान करने वाला है। अमेरिका में संक्रमण के मामले बहुत तेजी से बढ़ रही है। इसपर कुछ एक्सपर्ट्स का मानना है कि दो हफ्ते के भीतर ये आंकड़ा और बढ़ेगा। इसको देखते हुए अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस वायरस को मात देने के लिए लगभग 15 दिन पहले जो गाइडलाइन्स जारी की थी। अब उसे 30 दिनों के लिए और बढ़ा दिया गया है। ट्रंप सरकार को डर सत्ता रहा है कि ऐसा न करने से और सख्त कदम न उठाने से इस वायरस की चपेट में आकर देश में 1 से 2.4 लाख लोगों की मौत हो सकती हैं ।

संभावित आंकड़ा बेहद डरावना 

ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि आने वाले दो हफ्ते देश के लिए बेहद मुश्किल हो सकते है। साथ ही ट्रम्प ने यह भी कहा कि वैज्ञानिकों ने अंदेशा जताया है कि अमेरिका में मौत का यह आंकड़ा 1 लाख से लेकर 2 लाख 40 हज़ार तक हो सकता है। ट्रंप के बाद उनकी टास्क फोर्स के टॉप हेल्थ ऑफिसर डॉ डेबोरा बर्क्स ने कहा कि गाइडलाइन्स का पालन करने के बाद भी 1 लाख से लेकर 2 लाख 40 हजार लोगों की मौत होने का खतरा है। अब तक अमेरिका में 188,578 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि 3,890 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

गाइडलाइन्स 30 दिनों तक बढ़ी

वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ट्रंप सरकार की ओर से 16 मार्च को जारी की गईं, गाइडलाइन्स को 30 दिन तक और बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। इस निर्णय के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर एक मुहीम भी शुरू की गई है। इसमें बीमार होने पर घर से बाहर ने जाने की सलाह दी गई है। साथ ही अगर बच्चे बीमार है तो उन्हें स्कूल न भेजें यह भी कहा गया है। अगर आपके परिवार का कोई सदस्य कोरोना पॉजिटिव है तो कोई भी बाहर न निकले। इन तीनों केस में अपने मेडिकल प्रोवाइडर से परामर्श करने को कहा गया है।

गाइडलाइन्स में है क्या?
  • गाइडलाइन्स में वृद्ध लोगों से अपने घर से बाहर ने निकलने और दूसरे लोगों से दूरी बनाए रखने की सलाह दी गई है। साथ ही जिन लोगों को स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई बीमारी है जैसे कोई हार्ट पेशेंट है या इम्युनिटी को लेकर कोई बीमारी है तो वह लोग भी बाहर न निकले। युवा और सेहतमंद लोग भी खतरे से बाहर नहीं हैं इसको लेकर भी सचेत किया गया है। इसलिए वे अपनी ओर से भी वायरस को रोकने में सहयोग करें।

  • क्रिटिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री, जैसे हेल्थकेयर और फार्मा, या फूड सप्लाई से जुड़े लोगों का काम पर जाना जरूरी है। ऐसे में कर्मचारी और ऑफिस दोनों को काम के साथ अपनी सेहत का ध्यान रखते हुए सभी बचाव के उपाय करने होंगे। इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए 10 से ज्यादा लोगों को एकत्रित होने से बचने को कहा गया है। जितना हो सके ड्राइव-थ्रू, पिक-अप या डिलिवरी विकल्प ही चुने। रेस्तरां, बार और फूड कोर्ट में खाने-पीने से बचने को सलाह दी गई है।

  • साथ ही ट्रैवल, शॉपिंग या सोशल विजिट्स न करें। अगर इमरजेंसी हो तो ही घर से निकले। जैसे नर्सिंग होम या रिटायरमेंट या लॉन्ग-टर्म केयर फैसिलटी में बेहद जरूरी मदद के लिए जाना हो तो ही जाएं। साफ-सफाई का ख्याल रखें। किसी चीज को छूने के बाद खासतौर से हाथ अच्छी तरह से धोएं और चेहरा छूने से बचें। खांसते-छींकते वक्त टिशू का इस्तेमाल करें या कोहनी के अंदर के हिस्से से ढकें। ज्यादा इस्तेमाल होने वाले सामान को डिसइन्फेक्ट करें।

You may also like

MERA DDDD DDD DD