[gtranslate]
world

शेख हसीना पर हमले के मामले में 14 इस्लामिक कट्टरपंथियों को मौत की सजा

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना पर जानलेवा हमले के मामले में 14 इस्लामिक चरमपंथियों को मौत की सजा सुनाई गई है। अदालत की सुनवाई के दौरान 9 आरोपी मौजूद थे, जबकि 5 अभी भी फरार चल रहे है। इन सभी इस्लामिक चरमपंथियों पर आरोप है कि इन्होंने वर्ष 2000 में शेख हसीना को एक चुनावी रैली में बम से मारने की कोशिश की थी। स्पीडी अदालत के लिए गठित जज अबू जफर मोहम्मद कमरुज्जमान ने अपने फैसले में कहा कि “अगर कानून के तहत इस पर रोक न हो तो फैसले को उदाहरण साबित करने के लिए इसे फायरिंग स्क्वॉड द्वारा अंजाम दिया जाए।”

जज ने फैसले में कहा अन्यथा (गोली मारने के आदेश में कानूनी बाधा पर) बांग्लादेश के कानून के तहत सुप्रीम कोर्ट के हाई कोर्ट डिवीजन द्वारा मौत की सजा की समीक्षा के बाद मंजूरी मिलने पर दोषियों को फांसी दी जा सकती है। सभी अपराधी प्रतिबंधित संगठन हरकत उल मुजाहिदीन (हूजी) बांग्लादेश के सदस्य हैं। 5 आरोपी फरार चल रहे हैं और सुनवाई के दौरान अनुपस्थित थे।

कानून के मुताबिक राज्य द्वारा नियुक्त वकीलों ने उनका बचाव किया। जज ने आदेश दिया कि फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद उनके खिलाफ फैसले को अमल में लाया जाएगा। मामला साल 2020 का है जब देश में चुनाव में अवामी लीग की नेता और प्रधानमंत्री शेख हसीना की दक्षिणी पश्चिमी गोपालगंज में रैली प्रस्तावित थी। इसी रैली स्थल के पास ही सुरक्षा एजेंसियों को 76 किलोग्राम का बम मिला था जिसे हूजी आतंकियों ने प्लांट किया था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD