world

अमेरिका में आपातकाल

 

राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अमेरिकी कंप्यूटरों को विदेशी साइबर हमलों से बचाने के लिए राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है। ट्रंप प्रशासन ने इस संबंध में एक कार्यकारी आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि वाणिज्य मंत्री विल्बर रोस ने शीर्ष अधिकारियों से चर्चा के बाद ऐसी किसी भी तरह के आदान-प्रदान पर रोक लगाने का फैसला किया है, जिसमें सूचनाओं अथवा संचार तकनीकी का इस्तेमाल होता हो। अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को किसी भी तरह के खतरे से बचाने के लिए यह कदम उठाया गया है।

वर्ष 1976 का एक कानून राष्ट्रपति को राष्ट्रीय आपातकाल घोषित करने का अधिकार देता है. ट्रंप से पहले भी कई राष्ट्रपति राष्ट्रीय आपातकाल लगा चुके हैं. 2009 में स्वाइन फ्लू के प्रकोप के दौरान बराक ओबामा और 9/11 हमले के बाद जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने राष्ट्रीय आपातकाल घोषित किया था. अभी तक अमेरिका में 31 बार राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की जा चुकी है. आपातकाल के दौरान राष्ट्रपति उन विशिष्ट शक्तियों का उपयोग कर सकते हैं, जो अमेरिकी संसद के कानून के दायरे में होंगे.

अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने को लेकर जारी गतिरोध पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप में पूरे देश में आपातकाल लगाने की घोषणा की है। इस दीवार के निर्माण का विरोध अमेरिकी संसद में कांग्रेस कर रही थी।  अब आपातकाल की घोषणा से डोनाल्ड ट्रंप मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए फंड मंजूर कर सकते हैं।

अमेरिकी  संसद ही सभी तरह के सरकारी ख़र्चों के लिए वित्तीय प्रस्तावों को मंजूरी देता है, अमेरिकी संसद अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के प्रस्ताव का विरोध कर रहा है, इस कारण ट्रंप और संसद में टकराव चल रहा है। ट्रंप ने रोज गार्डन से दक्षिणी सीमा पर राष्ट्रीय सुरक्षा और मानवीय संकट को देखते हुए राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की है।

ट्रंप ने कहा कि मैं राष्ट्रीय आपातकाल पर हस्ताक्षर करने जा रहा हूं, मेक्सिको के साथ अमेरिकी सीमा पर ड्रग्स, गैंग, मानव तस्करी और प्रवासियों के आक्रमण को रोकने के लिए यह दीवार काफी जरूरी है । हम अपनी दक्षिणी सीमा पर राष्ट्रीय सुरक्षा संकट का सामना करने जा रहे हैं।  इसलिए हम राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा करने जा रहे हैं, करीब 200 मील लंबी इस दीवार के निर्माण के लिए ट्रंप ने अमेरिकी संसद से 5 बिलियन डॉलर की मांग की थी. संसद से उन्हें सिर्फ 1.3 बिलियन डॉलर का ही फंड मिला था. इससे ट्रंप नाखुश थे. आपातकाल की घोषणा के बाद ट्रंप ने  कहा कि मुझे ऐसा करने की जरूरत नहीं थी, लेकिन मैं इसे बहुत तेजी से कर रहा हूँ।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अब ट्रंप कई क्षेत्रों से दीवार बनाने के लिए फंड इकट्ठा करेंगे. व्हाइट हाउस के अधिकारियों के मुताबिक, ट्रेजरी फ़ॉरेस्ट फंड से लगभग 600 मिलियन डॉलर, रक्षा विभाग की दवा-विरोधी गतिविधियों से 2.5 बिलियन डॉलर और अन्य सैन्य निर्माण खातों से 3.6 बिलियन डॉलर फंड इकट्ठा किया जाएगा. आपदा राहत फंड में ट्रंप कोई कटौती नहीं करेंगें। उधर, व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ट्रंप के आदेश का मकसद अमेरिका को विदेशी दुश्मनों से बचाना है। ये ऐसे दुश्मन हैं जो लगातार सूचना एवं संचार तकनीकी और सेवाओं के उपयोग से अतिसंवेदनशील बने हुए हैं।

You may also like