[gtranslate]
Uttarakhand

उत्तराखंड: खिचड़ी भोज में पहुंचे कांग्रेस नेताओं को कार्यकर्ताओं ने सौंपा इस्तीफा

उत्तराखंड: खिचड़ी भोज में पहुंचे कांग्रेस नेताओं को कार्यकर्ताओं ने सौंपा इस्तीफा

हल्द्वानी में कांग्रेस के स्वराज आश्रम में आयोजित खिचड़ी भोज में उस वक्त रायता फैल गया जब खिचड़ी भोज का शुभारंभ करने आ रहे कांग्रेस के प्रदेश प्रभारियों का विरोध किया गया। जब प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हरदेश पहंचे तो कई कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने स्वराज आश्रम के गेट पर उन्हें रोककर अपना इस्तीफा सौंप कर विरोध जताया।

नैनीताल दुग्ध संघ के पूर्व चेयरमैन संजय किरोला और कालाढूंगी से नगर पालिका चेयरमैन रह चुके दीप सती ने अपना इस्तीफा देते हुए समर्थकों के साथ विरोध जताया। माघ के महीने आयोजित इस खिचड़ी पार्टी में नई कार्यकारिणी में प्रदेश सचिव बने दोनों नेताओं ने विरोध जताते हुए इस्तीफा देने के बाद पार्टी के प्रदेश नेतृत्व पर निशाना साधा।

इस्तीफा सौंपने के बाद संजय किरोला ने कहा कि लंबे समय से पार्टी में काम करने के बावजूद उनको प्रदेश सचिव बनाया गया है बल्कि जिसने पिछले चुनाव में पार्टी का विरोध किया उन्हें महामंत्री पद से नवाजा जा रहा है। संजय किरोला ने कहा कि हरीश धामी का दर्द बिल्कुल ठीक है। पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्ताओं को ही पार्टी में आगे बढ़ाना चाहिए जो बिल्कुल नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि चुंकि ऐसा नहीं हो रहा है इसलिए उन्होंने  इस्तीफा दिया है।

वहीं खिचड़ी कार्यक्रम में फैले रायते पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व ने सबके सामने कहा है कि मास नेताओं को पार्टी में शामिल करें। और उनको जिम्मेदारी भी दें। केंद्रीय नेतृत्व के निर्देशानुसार ही कार्य हो रहा है लेकिन जब यह नाराज नेता सुने तभी तो इनको बताया जाए।

हरीश धामी के लगाए गए आरोपों के बाद आज नए कॉन्फिडेंस में दिखी नेता प्रतिपक्ष से इंदिरा हरदेश ने साफ कहा कि राजनीति में चर्चा-पर्चा और खर्चा तीनों में बना रहना चाहिए। और हम यहां से दिल्ली तक चर्चा में है। हमने सब जगह बात भी कर ली है। हमें कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि हमारा कुछ बिगड़ने वाला नहीं है।

उधर कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा कि नई कार्यकारिणी केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर गठित की गई है जो भी इसमें काम करना चाहेंगे उनका स्वागत है। और जो नहीं करना चाहेंगे उनकी अपनी मर्जी है। लेकिन अनुग्रह नारायण सिंह ने यह भी कहा कि जो कार्यकारिणी उन्होंने काट-छांट कर कम करके दी थी।

एआईसीसी में वह कार्यकारिणी कैसे बड़ी हो गई यह जांच का विषय है। धामी की प्रभारी के ऊपर भी जताई गई नाराजगी पर अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा कि अब प्रभारी के ऊपर ही बाहर आएगा हरीश धामी भी ठीक कह रहे हैं। क्योंकि वह पार्टी के स्वस्थ और मजबूत आदमी हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD