[gtranslate]

हरिद्वार। सूचना का अधिकार कानून के ग्राम पंचायत में हुए भ्रष्टाचार की सूचना मांगने वाले एक्टिविस्ट को जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। मामला हरिद्वार जिले के ब्लांक बहादराबाद के ग्राम अहमदपुर ग्रंट का है। यहां ग्राम प्रधान पर धमकी देने और झूठे मुकदमे में फंसाने का आरोप है। पीड़ित ग्रामीण विकास सैनी ने मुख्यमंत्री एवं मुख्य सूचना आयुक्त सूचना आयोग उत्तराखण्ड को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की है। अहमदपुर ग्रंट निवासी विकास सैनी ने ग्राम पंचायत में हुए विकास कार्यों से संबंधित सूचना मांगी तो उन्हें जान से मारने की धमकी मिलने लगी। अब ग्रामीण अपनी जान माल की सुरक्षा की गुहार लगा रहा है। दरअसल, पूरा मामला हरिद्वार जिले के ब्लांक बहादराबाद के ग्राम अहमदपुर ग्रंट का है जहां ग्रामीण विकास सैनी ने अगस्त २०१७ में ग्राम पंचायत के विकास कार्यों से संबंधित सूचना ग्राम प्रधान से चाही थी। जिसमें एक वर्ष बाद विलम्ब से सूचना देने के कारण सूचना आयोग उत्तराखण्ड द्वारा ग्राम प्रधान यशपाल सैनी पर २५ हजार का जुर्माना कर दिया गया था। बताया जाता है कि इससे रंजिश रखकर यशपाल सैनी अपने साथियों के साथ मिलकर विकास सैनी और उसके परिवार को झूठे मुकदमे में फंसाने की झूठी शिकायत कर रहा है। अपने साथियों के साथ मिलकर जान से मारने की धमकी दे रहा है जिसके संबंध में ग्रामीण विकास सैनी ने राज्य सूचना आयोग और मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर अपनी और परिवार की जान- माल की सुरक्षा की गुहार लगाई है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD