[gtranslate]
Uttarakhand

राज्यमंत्री रेखा आर्य के पति फिर विवादों में 

bY SANJAY SWAR

कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी के चलते हुवे लॉकडाउन ने बहुत से लोगों को को समाजसेवा के प्रति प्रेरित किया है। अपने स्तर से हर कोई असहाय व निर्बल लोगों को खाद्यसामग्री उपलब्ध करा रहा है। सबका उद्देश्य यही है कि कोई भूखा न रहे। इसी क्रम में उत्तराखंड सरकार में राज्यमंत्री रेखा आर्य के पति गिरधारी लाल साहू ने भी खाद्यपदार्थों की खेप अपनी पत्नी के विधानसभा क्षेत्र में भेजी लेकिन उसमें भी विवाद हो गया लोगों का आरोप है कि मंत्री पति ने जो आटा भिजवाया वो एक्सपायरी डेट का है।

लोगों का आरोप है कि वर्ष 2018 की पैकिंग का आटा लोगों में बटवाकर उनके स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी की ओर से सोमेश्वर में रामलीला मंच पर राशन वितरण का कार्यक्रम रखा गया था जिस दौरान ये विवाद उत्पन्न हुवा। हालांकि भाजपा के अल्मोड़ा जिले के अध्यक्ष रवि रौतेला ने इन आरोपों का खंडन करते हुवे कहा है कि जिस मिल से ये आटा मंगवाया गया था उस मिल के मालिक का कहना है कि  नये कट्टों की कमी के चलते पुराने कट्टों में आटा पैक किया गया था। रवि रौतेला का कहना है कि फिलहाल इस आटे के वितरण पर रोक लगा दी गई है। इस राशन वितरण कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ताओं के अलावा प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद थे।

You may also like

MERA DDDD DDD DD