[gtranslate]
Uttarakhand

उत्तराखंड में शराब तस्कर सक्रिय 

कोरोना वायरस के चलते जहाँ देश प्रदेश मे लॉक डाउन है। 4 मई के बाद उत्तराखंड सरकार ने शराब की दुकानें खोल दी हैं।जहाँ शराब की दुकानें खोलने से लॉक डाउन के नियमो की धज्जियां उड़ाई गयी थी। शराब के चाहने वालो को देखकर लग रहा है कोरोना वायरस कोई महामारी चल ही नही है।लॉक डाउन के चलते पहाड़ों में अभी तक लाखो की अवैध शराब पुलिस ने कड़े निर्देशानुसार पकड़ी है।जिलो के बॉर्डर और जगह जगह बैरियर लगा कर गहन चेकिंग की जा रही है।

लेकिन शराब तस्कर तस्करी करने से बाज नही आ रहे हैं।इसको देवभूमि का कलंक कहा जायेगा या प्रदेश मे युवाओं को पैसा कमाने का एकमात्र जरिया जिससे आसानी से आधुनिक लाइफ शैली में जीने के लिये पैसा कमाने का जरिया ।जब सब पहाड़ आराम से नींद लेता है पहाड़ का शराब माफिया जागता है।शराब माफियाओ पर इस समय पुलिस की पैनी नजर है।जिस कारण अभी तक लाखो की शराब बरामद की गई है। अल्मोड़ा जिले मे अभी तक लॉक डाउन के दौरान मादक पदार्थों की तस्करी मे 21 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। लगभग 49,43205 रुपये की अंग्रेजी देशी शराब 790 पेटियां पकड़ी गई हैं। साथ साथ 150 लीटर कच्ची शराब बरामद करते हुवे 25 तस्करो के विरुद्ध कार्यवाही के साथ 06 वाहनों को सीज किया गया है। शराब की दुकानें प्रदेश मे 4 मई से खोल दी गयी पर अवैध शराब पर अल्मोड़ा एस एस पी प्रहलाद मीणा की पैनी नजर है।अवैध शराब रोकने के लिये कड़े निर्देश दिए गए हैं। 11 मई को दन्या पुलिस थानाध्यक्ष संतोष तिवारी व कांस्टेबल राजेश भट्ट द्वारा गरुराबाज तिराहे पर चेकिंग के दौरान बोलोरो गाड़ी से 106000 कीमत की शराब पकड़ी।

थानाध्यक्ष दन्या ने बताया कि चेकिंग के दौरान बोलोरो गाड़ी से 120 बोतल 240 हाफ और 240 पव्वे पकड़े गए 25 अवैध गुलाब मार्का की शराब बरामद की। अभियुक्त कैलाश राम को गिरफ्तार कर आबकारी अधिनियम व 188 भा द वि के अंतर्गत अभियोग पंजिकरत किया गया है।।एस एस पी प्रहलाद मीणा के अनुसार लॉक डाउन के तहत सघन जांच चल रही है।अवैध शराब के खिलाफ कार्यवाही लगातार चल रही है। लॉक डाउन के बाद भी जारी रहेगी। चम्पावत पुलिस के द्वारा भी लॉक डाउन मे अभी तक शराब तस्करी मे 37 अभियोग पंजीकृत हुवे हैं। और 37 अभियुक्तो की गिरफ्तारी हुई है।जिसमें 228 अंग्रेजी शराब व 228 देशी शराब की बोतल बरामदगी के साथ 59 बोतल नेपाली शराब,82 लीटर कच्ची शराब पकड़ी है 06 गाडियो को शराब परिवहन मे सीज किया गया है। एक अन्य कुमाऊं के पहाड़ी जिले बागेश्वर मे एस पी रुचिता जुयाल की अवैध शराब के खिलाफ जारी है। अवैध शराब के खिलाफ कड़े निर्देश दिये गए हैं।10 जून को उप निरीक्षक के निर्देश मे पुलिस टीम द्वारा चेकिंग मे बागेश्वर के पिछड़े एरिया सांग मे चेकिंग के दौरान शक होने पर हयात सिंह की गाड़ी से 55 पेटिया अवैध शराब पकड़ी गई जिसकी कीमत 3.5लाख अनुमानित बताई जा रही है इस टीम में उप निरीक्षक लोकेश रावत और शंकर राम थे।आबकारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

कपकोट पुलिस उपाधीक्षक सुनीता टम्टा जिन्होंने अपनी शादी लॉक डाउन को देखते हुए ड्यूटी को महत्व दिया बताती हैं पुलिस टीम को देखकर अपराधी के हाव् भाव चेंज होते हैं शक होने और जांच की गई जिसमें 55 पेटी शराब बरामद हुई। शराब तस्कर व नशे के कारोबारी इस भयंकर कोरोना महामारी मे भी नशा फैलाने में बाज नही आ रहे हैं।पहाड़ो मे उत्तराखंड पुलिस ने जहाँ अपने निजी संसाधनों से जरूरत मंदो को लॉक डाउन मे खाना खिलाया ।परेसान बुजुर्गों को उनके गंतव्य तक छोड़ने के ब्लड डोनेट करने मानवीय मूल्यों को जिंदा रखकर अपना फर्ज निभाया है।उत्तराखंड बनने के बाद लॉक डाउन मे मित्रः पुलिस का नाम सही उच्चारण करने की कोशिश की है।जब भी प्रदेश मे लॉक डाउन खुलेगा तब भी इसी तरह चेकिंग और कार्यवाही अवैध शराब और जारी रहेगी तो निःसन्देह शराब माफियाओ पर गावँ गावँ शराब पर रोक लगेगी जो राज्य हित मे होगा।

You may also like